अमरावती, 23 मई (भाषा) आंध्रप्रदेश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर में 31-40-50 साल के उम्रवर्ग के लोगों की अधिक मृत्यु हो रही है। वहीं बच्चों एवं 60 साल से अधिक उम्र वर्ग में मृत्यु दर अपेक्षाकृत कम है।

राज्य में इस महामारी से 10,000 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। इस बीमारी से पहली मौत तीन अप्रैल, 2020 को हुई थी।

इस महामारी के फैलने के बाद से अब तक संपूर्ण मृत्युदर 0.65 फीसद रही है। जिन लोगों की मृत्यु हुई, उनमें 34.27 फीसद महिलाएं और 65.67 फीसद पुरूष थे।

राज्य सरकार द्वारा कराये गये मृत्यु ऑडिट में राज्य में पहली और दूसरी लहर में मृतक प्रतिशत और मृत्यु दर करीब- करीब समान ही रही। शहरी क्षेत्रों में करीब 50.4 फीसद और 49.6 फीसद मौत हुई।

देश में कोविड-19 के कारण हुई मौतों की संख्या के लिहाज से आंध्रप्रदेश 19वें नंबर पर है। पिछले साल की पहली लहर की तुलना में इस साल दूसरी लहर में 41-50 साल के उम्र वर्ग में मृत्युदर 5.96 फीसद बढ़कर 21.06 फीसद हो गयी। वैसे यहां संक्रमण दर 0.15 फीसद घटी।

पहली लहर की तुलना में इस साल दूसरी लहर में 31-40 साल के उम्र वर्ग में मृत्युदर 5.19 फीसद बढ़कर 11.13 फीसद हो गयी। वैसे यहां संक्रमणदर भी 1.16 फीसद बढ़ी। इसी तरह, 51-60 साल के उम्रवर्ग में मृत्युदर 2.04 फीसद बढ़ी। वैसे यहां संक्रमण दर भी 1.95 फीसद घटी।

जिन मरीजों की उम्र 61-70 साल थी, उनमें मृत्युदर 5.19 फीसद बढ़कर 11.13 फीसद हो गयी। संक्रमण दर भी 1.16 फीसद बढ़ी। राज्य में 71-80 साल के मरीजों में मृत्यु दर 4.9 फीसद घटकर 11.41 फीसद हो गयी। संक्रमण दर भी 0.71 फीसद घटी।