नयी दिल्ली, 25 मई (भाषा) वाहनों के लिये कल-पुर्जे बनाने वाले बॉश समूह ने मंगलवार को कहा कि उसने भारत में अपने किसी भी कर्मचारी के कोविड-19 के कारण निधन होने पर औसतन 70 लाख रुपये का बीमा कवर उपलब्ध कराया है। इसके अलावा समूह ने कहा कि उसने महामारी से निपटने के लिये राहत उपायों के लिये प्रयास तेज किये हैं।

बॉश ने यह भी कहा कि वह अपने कर्मचारियों के निधन होने की स्थिति में उनके परिवार को तीन साल तक चिकित्सा बीमा उपलब्ध कराएगा।

समूह ने एक बयान में कहा, ‘‘कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन आपूर्ति और स्वास्थ्य सुविधाओं की जरूरतों को देखते हुए समूह ने बेंगलुरु और पुणे परिसरों में कोविड देखभाल केंद्र स्थापित किये हैं।’’

बयान के अनुसार कंपनी ऑक्सीजन उत्पादन इकाई में भी निवेश करेगी। ये इकाइयां कारोबार में मदद के साथ समाज की भी सेवा करेंगी।

समूह ने कहा, ‘‘यह कठिन समय है और समाज के हर वर्ग के लोगों को एकजुटता, सहानुभूति दिखानी चाहिए, सही ज्ञान होना चाहिए और सुरक्षा का प्रयोग करने में एक दूसरे का समर्थन करना चाहिए।’’

कर्मचारी कल्याण पर, बॉश ने कहा, ‘‘कोरोना संक्रमण से कर्मचारियों की मृत्यु जैसी अप्रत्याशित स्थिति में, बॉश अपने कर्मचारियों को औसतन 70 लाख रुपये बीमा कवर प्रदान करेगा। यह राशि मृतक कर्मचारी के कानूनी उत्तराधिकारियों को मिलेगी। यह मौजूदा 7 लाख रुपये कर्मचारी जमा संबद्ध बीमा योजना (ईडीएलआई) के अलावा है।’’

इसके अलावा समूह अपने कर्मचारियों के निधन होने की स्थिति में उनके परिवार को मृत्यु की तारीख से तीन साल तक चिकित्सा बीमा उपलब्ध कराएगा।

भाषा

रमण मनोहर

मनोहर