केंद्र सरकार ने 18+ वालों को 1 मई से वैक्सीन लगाने के आदेश दिए थे. जिसके बाद 28 अप्रैल की शाम 4 बजे कुछ ऐप्लीकेशन्स के माध्यम से रजिस्ट्रेशन भी शुरू हो गए थे लेकिन पूरे देश में आज वैक्सीन नहीं लग रही है. 30 अप्रैल की शाम तक कई राज्यों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस बात की जानकारी अपने राज्य के लोगों को दी है. यहां हम आपको उन राज्यों के नाम जहां आज वैक्सीन नहीं शुरू हुई है.

यह भी पढ़ें- केंद्र ने कहा 1 मई से कुछ राज्यों में शुरू करेंगे 18 से 44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन

दिल्ली- मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 28 अप्रैल की दोपहर में दिल्लीवालों से निवेदन किया कि 1 मई को वैक्सीनेशन 18+ वालों को नहीं लगेंगे. इसके लिए अभी 2-3 दिन का इंतजार करना होगा.

महाराष्ट्र- स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने गुरुवार को बताया था कि फिलहार 18 से 44 साल के लोगों को वैक्सीन नहीं लगाया जाएगा.

मध्य प्रदेश- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कहा था कि एमपी में वैक्सीन की डोज ना होने के कारण वैक्सीनेशन नहीं किया जाएगा.

ओड़िशा-18 से 44 साल की उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन 1 मई को इस राज्य में भी नहीं लगाया जाएगा.

ओड़िशा-18 से 44 साल की उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन 1 मई को इस राज्य में भी नहीं लगाया जाएगा.

यह भी पढ़ें- दिल्ली में कोरोना: पिछले 24 घंटो में आए 27 हजार से ज्यादा नए केस, 375 लोगों की हुई मौत

कर्नाटक- स्वास्थ्य और चिकित्सक शिक्षा मंत्री के सुधाकर ने बताया कि राज्य ने एक करोड़ वैक्सीन का ऑर्डर किया था मगर अभी वो राज्य को मिला नहीं है. इसलिए राज्य में 1 मई को वैक्सीन नहीं लगाया जाएगा.

तमिलनाडु- स्टेट हेल्थ सैकेट्री डॉ. जे राधाकृष्ण्न ने बताया कि 1 मई को 1.5 करोड़ वैक्सीन की डोज राज्य में पहुंचेगी तो उसी दिन डोज नहीं लगाया जाएगा.

पश्चिम बंगाल- राज्य सरकार ने केंद्र को लिथा कि कोविड-19 की वैक्सीन 3 करोड़ डोज चाहिए, जो अभी तक राज्य को मिली नहीं है. इसलिए 1 मई को वैक्सीन नहीं लगाया जाएगा.

पंजाब- स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि 18 से 44 वर्ष के लोगों को 1 मई को वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी.

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, तेलंगाना, अरुणाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश, गुजरात और गोवा में भी वैक्सीन की मात्रा पर्याप्त नहीं है, जिसके कारण 1 मई को वैक्सीनेशन नहीं होगा.

यह भी पढ़ेंः कोरोना से पीड़ित 86 साल की बुजुर्ग ने डॉक्टरों के कथन को गलत साबित कर दिया

यह भी पढ़ें- भारत में कोरोना: पिछले 24 घंटों में आए 4 लाख से ज्यादा नए केस, जानें ताजा आंकड़े