साढ़े नौ सौ करोड़ रुपये के चारा घोटाले के चार मामलों में सजायाफ्ता आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने मंगलवार को दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपये गबन के मामले में भी झारखंड उच्च न्यायालय में जमानत याचिका दाखिल कर दी.

चारा घोटाले के दुमका मामले में चौदह वर्ष की सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव की ओर से झारखंड उच्च न्यायालय में जमानत याचिका दाखिल की गई.

इस मामले में लालू को विशेष सीबीआई अदालत ने 14 वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनायी है और उक्त मामले में ही वह इस समय न्यायिक हिरासत में बंद हैं. दुमका मामले में उच्च न्यायालय से उनकी जमानत याचिका पहले खारिज भी हो चुकी है. दूसरी ओर लालू को हाल में ही नौ अक्तूबर को चारा घोटाले के चाईबासा कोषागार से गबन के एक मामले में उच्च न्यायालय ने आधी सजा पूरी कर लेने के आधार पर जमानत दी थी. लालू के अधिवक्ता देवर्षि मंडल ने बताया कि उन्होंने उच्च न्यायालय में जमानत याचिका आज दाखिल की है.

मंडल ने दावा किया कि लालू यादव ने दुमका मामले में 42 माह जेल में पूरे कर लिये हैं जिसे देखते हुए आधी सजा पूरी कर लेने और लालू की बीमारियों के आधार पर न्यायालय से जमानत मांगी गयी है.

चाईबासा के अलावा लालू को पूर्व में देवघर कोषागार से गबन और चाईबासा के एक अन्य मामले में पहले ही जमानत मिल चुकी है लेकिन दुमका कोषागार से गबन के मामले में उन्हें अब तक जमानत नहीं मिली थी जिसके चलते अभी वह न्यायिक हिरासत में ही हैं.