इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप में आधी रात के बाद आये तेज भूकंप के कारण कम से कम 34 लोगों की मौत हो गई जबकि 600 से अधिक लोग घायल हो गए. भूकंप के बाद कुछ जगहों पर भूस्खलन की घटनाएं भी हुई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

इंडोनेशिया के अधिकारियों ने बताया कि भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.2 मापी गई है. भूकंप से हताहतों और प्रभावित इलाकों में हुए नुकसान के बारे में और जानकारी जुटायी जा रही है.

राष्ट्रीय आपदा शमन एजेंसी की ओर से जारी एक वीडियो में एक बच्ची मकान के मलबे में फंसी और मदद की गुहार लगाती नजर आयी. बच्ची यह भी कह रही थी कि उसकी मां जिंदा है लेकिन बाहर नहीं निकल पा रही. वहीं बचावकर्मियों ने उससे कहा कि वह उसकी मदद करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं.

टीवी चैनलों की खबर के अनुसार भूकंप से एक अस्पताल का हिस्सा ढह गया और मरीजों को बाहर अस्थायी तंबुओं में पहुंचाया गया.

‘अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे’ ने बताया कि करीब दो हजार लोगों को कई अस्थायी आश्रय स्थलों में रखा गया है.

भूकंप का केन्द्र पश्चिम सुलावेसी प्रांत के ममूजू जिले में 18 किलोमीटर की गहराई में था. इसी क्षेत्र में गुरुवार को समुद्र के अंदर 5.9 की तीव्रता का भूकंप आया था.

राष्ट्रपति जोको विडोडो ने टेलीविजन के जरिए देश को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने सामाजिक मंत्री, सेना, पुलिस और आपदा एजेंसी के प्रमुखों को जल्द राहत के कदम उठाने तथा बचाव अभियान चलाने के लिए कहा है.