सिडनी, 27 मई (भाषा) आस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ​यदि अपनी भूमिका में बने रहना चाहते हैं तो उन्हें अपनी कोचिंग शैली में हर हाल में बदलाव करना होगा। आस्ट्रेलिया में सत्र की समाप्ति के बाद गयी समीक्षा में यह चेतावनी दी गयी है।

सूत्रों पर आधारित रिपोर्ट में 'सिडनी मार्निंग हेरल्ड' ने कहा कि 50 वर्षीय लैंगर को उनकी कोचिंग शैली को लेकर यह सीधी और बेबाक प्रतिक्रिया सौंपी गयी है जो 40 खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ से ली गयी थी।

इस साल के शुरू में भारत ने कई खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद पहला टेस्ट गंवाने के बाद शानदार वापसी करके आस्ट्रेलिया को चार मैचों की श्रृंखला में 2—1 से हराया था। इसके बाद कुछ खिलाड़ियों ने लैंगर की प्रबंधन शैली को लेकर असंतोष व्यक्त किया था।

लैंगर को 2018 में डेरेन लीमन के गेंद से छेड़छाड़ के मामले के कारण पद छोड़ने के बाद चार साल के लिये मुख्य कोच नियुक्त किया गया था।

खिलाड़ियों ने टीम मैनेजर गेविन डोवे के प्रति भी असंतोष जताया है।

खिलाड़ियों की इस प्रतिक्रिया पर लैंगर के जवाब से यह तय होगा कि उन्हें नया अनुबंध सौंपा जाएगा या नहीं।

क्रिकेट आस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय टीम के प्रमुख बेन ओलिवर ने समाचार पत्र को दिये गये बयान में कहा, ''यह पिछले विश्व कप और 2019 एशेज के बाद की गयी प्रक्रिया के ही समान है जहां टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया था। ''

उन्होंने कहा, ''यह हमारी मैदान के अंदर और बाहर के सुधार की प्रतिबद्धता का हिस्सा है और हमें उम्मीद है कि इससे आगामी टी20 विश्व कप और घरेलू एशेज श्रृंखला के लिये टीम की तैयारियों में मदद मिलेगी।''

भाषा पंत

पंत