इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड अपने साथी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन के नक्शेकदम पर चलना चाहते हैं ऐसा वह करियर को लंबा खींचने के लिए करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि वह कुछ और साल खेलने के लिए फिट हैं.

साउथम्पटन में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट के लिए ब्रॉड को नजरअंदाज किया गया था लेकिन दूसरे टेस्ट में 34 साल के इस तेज गेंदबाज ने वापसी की और चौथे दिन तीन विकेट चटकाकर इंग्लैंड का पलड़ा भारी कर दिया.

वहीं, 30 जुलाई को 38 साल के हो रहे एंडरसन को ओल्ड ट्रैफर्ड में चल रहे दूसरे टेस्ट से आराम दिया गया है.

बीबीसी स्पोर्ट ने एंडरसन के हवाले से कहा, ‘‘जो जिमी ने किया है उसे क्यों नहीं दोहराया जाए, उसकी उम्र तक खेला जाए और उसकी तरह सफलता हासिल की जाए. मैं भूखा हूं. मेरा फिटनेस रिकॉर्ड अच्छा है. अगर मैं इसे लक्ष्य बनाऊं, अगर मैं कोई लक्ष्य बनाता हूं तो उसे हासिल करने के लिए मेरी भूख बढ़ जाती है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘कभी कभी मुझे मेरी उम्र से अधिक के वर्ग में रखा जाता है. जिमी ने मेरी उम्र पार करने के बाद भी ये विकेट चटकाए हैं. मैं ऐसा क्यों नहीं कर सकता.’’

पहले टेस्ट की टीम से बाहर किए गए ब्रॉड ने इस फैसले की आलोचना करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. उन्होंने कहा, ‘‘टीम में वापस आकर अच्छा लग रहा है. यह मौका मिलना ही था लेकिन जब आप नहीं खेल रहे होते तो निराश होना स्वाभाविक है.’’ ब्रॉड एंडरसन के 587 टेस्ट विकेट से 99 विकेट पीछे हैं.