लेबनान की राजधानी बेरूत में मंगलवार को हुए भीषण विस्फोट के पीछे का कारण पता चल गया है. लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिआब के मुताबिक ये विस्फोट बंदरगाह में रखे 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट के कारण हुआ है. 

बता दें कि बेरूत में हुए विस्फोट में बंदरगाह का एक बड़ा हिस्सा और कई इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं. AFP न्यूज एजेंसी ने स्वास्थ्य मंत्रालय के हवाले से बताया, इसमें कम से कम 73 व्यक्तियों की मौत हो गई और 3,700 लोग घायल हैं.

अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट के कई घंटे बाद भी एंबुलेंस घायलों को अस्पताल पहुंचा रही हैं. वहीं सेना के हेलीकॉप्टर पोर्ट पर लगी आग को बुझाने में मदद कर रहे हैं. इस विस्फोट से आग लग गई, कारें पलट गईं और खिड़कियों और दरवाजें के शीशे टूट गए.

लेबनान के सामान्य सुरक्षा के प्रमुख अब्बास इब्राहिम ने कहा था कि हो सकता है कि धमाका अत्यधिक विस्फोटक सामग्री से हुआ हो,जिसे कुछ समय पहले एक जहाज से जब्त किया गया था और बंदरगाह पर रखा गया था. स्थानीय टेलीविजन चैनल एलबीसी ने कहा कि यह सामग्री सोडियम नाइट्रेट थी.