दुबई, 19 अप्रैल (भाषा) श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर दिलहारा लोकुहेटिगे को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की भ्रष्टाचार रोधी संहिता का उल्लघंन करने का दोषी पाये जाने के बाद सोमवार को आठ साल के लिये सभी तरह के क्रिकेट से प्रतिबंधित कर दिया गया।

लोकुहेटिगे पर यह प्रतिबंध तीन अप्रैल 2019 से लगाया गया जब उन्हें अस्थायी रूप से प्रतिबंधित किया गया था।

आईसीसी की इंटीग्रिटी इकाई के महाप्रबंधक एलेक्स मार्शल ने विज्ञप्ति में कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में श्रीलंका का प्रतिनिधित्व करने वाले दिलहारा ने कई भ्रष्टाचार रोधी शिक्षा सत्रों में हिस्सा लिया है और वह समझ गये होंगे कि उन्होंने संहिता का उल्लघंन किया है। ’’

इसके अनुसार, ‘‘उनके जुर्माने की गंभीरता से उनके अपराध और बार बार सहयोग करने से इनकार से पता चलता है और अगर कोई भी किसी भी तरह के भ्रष्टाचार में शामिल होने पर विचार कर रहा है तो इसे उसके लिये सबक की तरह काम करना चाहिए। ’’

श्रीलंका के लिये नौ वनडे और दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बाद सितंबर 2016 में इस 40 साल के खिलाड़ी ने संन्यास ले लिया था। इस साल जनवरी में एक स्वतंत्र पंचाट की सुनवाई के बाद उन्हें आईसीसी भ्रष्टाचार रोधी संहिता के तीन उल्लघंन का दोषी पाया गया था।

उन्हें नवंबर 2019 में आईसीसी भ्रष्टाचार रोधी संहिता के अंतर्गत 2017 में संयुक्त अरब अमीरात में एक टी20 टूर्नामेंट के दौरान मैच फिक्सिंग में संलिप्तता के लिये आरोपित किया गया था जिसमें श्रीलंकाई टीम ने हिस्सा लिया था। उन्हें संहिता के अनुच्छेद 2.1.1, 2.1.4 और 2.4.4 का दोषी पाया गया था।