मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया है. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि राहुल गांधी इच्छाधारी हिंदू हैं, वे सुविधा से टोपी और टीका लगाते हैं, धार्मिक पर्यटन पर जाते हैं और धार्मिक पर्यटन पर जाने के बाद वे इस तरह की बात करते हैं.

एमपी के गृह मंत्री ने आगे कहा, "अभी तक मैं मानता था कि बालपन है, लेकिन जब संघ के बारे में इन्होने ऐसा बोला तो मन को पीड़ा हुई. संघ को ये क्या समझ पाएंगे. मूलपिण्ड जब किसी संस्था का या व्यक्ति का विदेशी होता है तो ये विसंगति रहती है. इसलिए मैं कानून विशेषज्ञों से राय लूंगा कि इस विषय पर FIR की जा सकती है क्या?"  

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी-आरएसएस के लोगों को 'फर्जी हिंदू' बताते हुए बुधवार को आरोप लगाया कि वे धर्म का इस्तेमाल अपने फायदे के लिए करते हैं और इसकी 'दलाली' में शामिल होते हैं.

गांधी ने अखिल भारतीय महिला कांग्रेस के स्थापना दिवस को संबोधित करते हुए कहा था कि कांग्रेस की विचारधारा बीजेपी-राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के बिल्कुल विपरीत है और दो विचारधाराओं में से केवल एक ही देश पर शासन कर सकती है.

गांधी ने बीजेपी-आरएसएस पर हमला करते हुए कहा था, "ये किस प्रकार के हिंदू हैं. ये झूठे हिंदू हैं. ये हिंदू धर्म का प्रयोग करते हैं, ये धर्म की दलाली करते हैं, मगर ये हिंदू नहीं हैं."

कांग्रेस नेता ने कहा, "बीजेपी-आरएसएस के लोग कहते हैं कि वे एक हिंदू पार्टी हैं. पिछले 100-200 वर्षों में अगर किसी ने हिंदू धर्म को सबसे अच्छे तरीके से समझा है और इसे अपना अभ्यास बनाया है, तो वह महात्मा गांधी हैं. हम इसमें विश्वास करते हैं और ऐसा ही बीजेपी-आरएसएस के लोग भी करते हैं. इसलिए, अगर महात्मा गांधी ने हिंदू धर्म को समझा और अपना पूरा जीवन इसे समझने में लगा दिया, तो आरएसएस की विचारधारा ने उनके सीने में तीन गोलियां क्यों मारीं." 

यह भी पढ़ें: फिर सोनू सूद के घर पहुंची इनकम टैक्स की टीम, जानें किस मामले में हो रही है जांच

यह भी पढ़ें: टाइम मैगजीन के 100 'प्रभावशाली' लोगों में मुल्ला बरादर, लिस्ट में मोदी-ममता और पूनावाला भी