महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को लोगों से अपील की कि गणेश उत्सव के दौरान भीड़भाड़ से बचें और मूर्ति की ऊंचाई तथा उनके विसर्जन से संबंधित दिशानिर्देशों का पालन करें.

गणेश उत्सव के दौरान सामान्य दिनों में मुंबई में लाखों लोग सड़कों पर होते हैं. कोरोना वायरस महामारी के साये में त्योहार 22 अगस्त से शुरू होने जा रहा है.

ठाकरे ने शीर्ष अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से समीक्षा बैठक में यह बात कही, जिसमें उपमुख्यमंत्री अजित पवार, गृह मंत्री अनिल देशमुख और जनस्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे भी मौजूद थे.

एक आधिकारिक बयान में ठाकरे के हवाले से बताया गया, ‘‘कोविड-19 संकट के दौर में शुरू हो रहा आगामी गणेशोत्सव शांतिपूर्ण तरीके से सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए मनाया जाना चाहिए.’’

उन्होंने कहा, ‘‘भीड़भाड़ से बचने के लिए सावधानी बरतनी चाहिए और सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि बीमारी नहीं फैले.’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तक लॉकडाउन के समय में सभी धर्मों के लोगों ने त्योहार में सरकार के साथ सहयोग किया है.

उन्होंने कहा, ‘‘राज्य के गृह विभाग की तरफ से जारी दिशानिर्देशों के मुताबिक सार्वजनिक गणेश मंडलों द्वारा स्थापित प्रतिमाओं की ऊंचाई चार फुट होनी चाहिए और घरों में स्थापित प्रतिमा की ऊंचाई दो फुट होनी चाहिए.’’

उन्होंने कहा, ‘‘इन दिशानिर्देशों का पालन करते हुए प्रतिमाओं की स्थापना और विसर्जन के दौरान कोई जुलूस नहीं निकाला जाना चाहिए ताकि भीड़भाड़ से बचा जा सके.’’