महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी गुरुवार को एक सरकारी विमान से उत्तराखंड के देहरादून जाने वाले थे, लेकिन उड़ान के लिए अनुमति नहीं दी गई. सूत्रों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि राज्यपाल बाद में देहरादून की यात्रा के लिए एक वाणिज्यिक उड़ान से रवाना हुए.

इस बारे में पूछे जाने पर, महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने संवाददाताओं से कहा कि उनके पास कोई जानकारी नहीं है और जानकारी मिलने के बाद ही वह इस पर टिप्पणी कर पाएंगे.

हालांकि, राज्य में विपक्षी बीजेपी ने इस पर उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार से माफी मांगने के लिए कहा है. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, "संविधान में राज्य के प्रमुख राज्यपाल हैं. मुख्यमंत्री के पास फाइल गई. जानबूझकर इजाज़त नहीं दी गई. राज्यपाल को नीचा दिखाने का प्रयास किया गया."

वहीं केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा, "राज्य सरकार का यह रवैया बहुत गलत है. राज्यपाल को सरकारी विमान का उपयोग करने का अधिकार है. यह राज्यपाल का अपमान है. CM को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए."

ये भी पढ़ें: राजनाथ सिंह ने संसद में कहा- 'समाप्त हो गया है LAC पर भारत और चीन के बीच तनाव'

सूत्रों के अनुसार, कोश्यारी को सुबह 10 बजे मुंबई से देहरादून के लिए रवाना होना था. सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल को शुक्रवार को मसूरी में एक कार्यक्रम में भाग लेना है. उन्हें पहले देहरादून पहुंचना है और फिर वह वहां से मसूरी जाएंगे.

एक सूत्र ने दावा किया, 'राज्य सरकार के एक विमान को पहले ही बुक कर लिया गया था. लेकिन, अंतिम समय तक अनुमति नहीं मिली.' सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल के कार्यालय ने बाद में एक निजी विमान में सीट बुक की और वह दोपहर करीब 12.15 बजे देहरादून के लिए रवाना हुए.

ये भी पढ़ें: किसान महापंचायत को लेकर UP पुलिस की कार्रवाई, RLD नेता जयंत चौधरी समेत 5000 लोगों पर मामला दर्ज