पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब हो गई हैं. भवानीपुर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में ममता बनर्जी ने एकतरफा जीत हासिल ही इसके साथ ये एक रिकॉर्ड जीत में भी शामिल हो गया है. ममता बनर्जी ने बीजेपी की उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल को 58 हजार वोटों से भी अधिक अंतर से हराया है.

ममता बनर्जी ने इस जीत के बाद पूरे भवानीपुर की जनता को धन्यवाद कहा. उन्होंने कहा, मुझे 1 लाख 15 हजार वोट मिले और किसी भी वार्ड में मुझे हार नहीं मिली है. भवानीपुर में 46 प्रतिशत गैर बंगाली हैं और सबने हमें वोट किया.

यह भी पढ़ेंः ड्रग्स पार्टीः शाहरुख के बेटे आर्यन समेत वह 8 नाम जिससे NCB कर रही है पूछताछ

भवानीपुर सीट पर जीत के बाद ममता बनर्जी ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान मेरी पार्टी के खिलाफ साजिश रची गई थी. उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान मेरे पैर में चोट लगी थी, लेकिन जनता ने भरपूर सहयोग किया.

भवानीपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव में मिली जीत के बाद टीएमसी समर्थकों के बीच बेहद खुशी का माहौल है. वे ढोलक की थाप पर नाच-गाकर खुशियां मना रहे हैं. हालांकि आयोग ने जश्न मनाने पर रोक लगा दी है.

यह भी पढ़ेंः Petrol-Diesel Price Hike: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में इजाफा, जानें 3 अक्टूबर का नया रेट

चुनाव आयोग की ओर से बंगाल सरकार को लिखी गई चिट्ठी में कहा गया है कि उपचुनाव के लिए मतगणना के दौरान या नतीजे आने के बाद किसी भी तरह का जश्न न मनाया जाए. इसके साथ ये भी कहा है कि नतीजों के बाद जुलूस न हो और हिंसा न हो इसके लिए आवश्यक कदम उठाएं जाएं.

गौरतलब है कि, ममता बनर्जी भवानीपुर सीट से पहले भी जीत हासिल कर चुकीं हैं. 2016 के विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी भवानीपुर सीट से ही चुनाव लड़ा था और उन्होंने जीत हासिल की थी.

भवानीपुर से सीट पर पहले टीएमसी ने शोभनदेब चट्टोपाध्याय को खड़ा किया गया था, जिसमें उन्होंने जीत हासिल की थी. उन्होंने बीजेपी के रुद्रनिल घोष को शिकस्त दी. हालांकि, ममता बनर्जी के लिए शोभनदेब चट्टोपाध्याय ने भवानीपुर सीट से इस्तीफा दे दिया.

यह भी पढ़ेंः Post Office में बदल गए हैं खाताधारकों के लिए नियम, हर सुविधाओं के लिए लगेगा शुल्क