उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती ने बड़ी कार्रवाई की है. पार्टी ने दो दिग्गज नेताओं को पार्टी से बाहर निकाल दिया है. मायावती के आदेश पर विधानमंडल दल के नेता लालजी वर्मा और पूर्व प्रदेश अध्य राम अचल राजभर को पार्टी से बाहर निकाल दिया गया है.

यह भी पढ़ेंः WHO ने कहा- कोरोना 'महामारी' नहीं, जाने वायरल पोस्ट की सच्चाई

बताया जा रहा है कि लालजी वर्मा पर पार्टी विरोधी गतिविधियों का हवाला देकर नेता विधानमंडल दल के पद से हटाया गया. इसके बाद उन्हें पार्टी से भी हटा दिया गया है. अब लालजी वर्मा की जगह पर विधायक गुड्डू जमाली को विधानमंडल दल का नया नेता बनाया गया है.

यह भी पढ़ेंः क्या है Monthly Income FD? हर महीने होती है आय

इस बारे में पार्टी की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है कि, बहुजन समाज पार्टी के टिकट से निर्वाचित दो विधायकों को उनके द्वारा पंचायत चुनावों के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिफ्त होने के कारण तत्काल प्रभाव से बहुजन समाज पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है.

यह भी पढ़ेंः 30 जून तक नहीं किया ये काम तो बेकार हो जाएगा आपका PAN कार्ड, लगेगा जुर्माना

लालजी वर्मा जो अम्बेडकर नगर के कटेहरी से विधायक है. वहीं, रामअचल राजभर अम्बेडकरनगर से ही अकबरपुर के विधायक हैं.

पार्टी के सभी पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि इन दोनों विधायकों को पार्टी के किसी भी कार्यक्रम में नहीं बुलाया जाएगा. साथ ही भविष्य में कभी भी कोई भी चुनाव पार्टी से नहीं लड़ाया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः राजधानी दिल्ली में कोरोना नहीं ब्लैक फंगस बन रहा है सिरदर्द, देखें आंकड़े

यह भी पढ़ेंः जया को मिला था ईश्वरी घटना का संकेत, जब ICU में थे अमिताभ बच्चन

यह भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने नगर पार्षद राकेश पंडित की गोली मारकर हत्या की