देश के मशहूर मसाला कंपनी महाशिया दी हट्टी (MDH) के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का 98 साल की उम्र में आज सुबह ही निधन हो गया है. कुछ समय पहले इन्हें कोरोना वायरस हो गया था लेकिन उससे वे उबर गए थे. महाशय धर्मपाल को विज्ञापन की दुनिया के सबसे उम्रदराज स्टार माना जाता है.

ANI के मुताबिक, एमडीएच मसालों के महाशय धर्मपाल का 98 साल की उम्र में निधन हुआ.

कुछ समय पहले महाशय धर्मपाल गुलाटी कोरोना से संक्रमित हो गए थे लेकिन उससे ठीक होकर घर चले गए थे. खबरों के मुताबिक, सुबह 5.38 पर उन्होंने अंतिम सांस ली और आज ही उनका अंतिम संस्कार होगा.

बता दें, 27 मार्च, 1923 को ब्रिटिश इंडिया के सिआलकोट (अब पाकिस्तान में) में महाशय धर्मपाल गुलाटी का जन्म हुआ था. धर्मपाल गुलाटी ने अपने संघर्ष की कहानी कई इंटरव्यूज में बताई हैं. उन्होंने बताया कि किस तरह बंटवारे के बाद उनके पिता परिवार को लेकर दिल्ली आ गए थे. इसके बाद मसालों की छोटी सी दुकान लगाकर अपना गुजारा करते थे. धर्मपाल जी ने पेट भरने के लिए तांगा भी चलाया लेकिन उनके सपने बड़े थे और अपनी मेहनत के दम पर महाशिया दी हट्टी कंपनी खड़ी की जिसे आमतौर पर लोग MDH मसालों के नाम से जानते हैं. 

अपने एक इंटरव्यू में महाशय धर्मपाल गुलाटी ने कहा था कि उनके पिताजी ने मसालों का काम शुरू किया था लेकिन बंटवाले ने सबकुछ खत्म कर दिया था. जब धर्मपाल जी अपने परिवार के साथ दिल्ली आए तब उनके पास सिर्फ 1500 रुपये थे लेकिन अपनी मेहनत और लगन से आज लगभग 2000 करोड़ रुपये के मालिक बन गए थे.