नेपीतॉ, 26 मई (एपी) म्यांमा में सैन्य तख्तापलट के बाद से सेना की आम जनता के खिलाफ कार्रवाई जारी है। ऐसी ही एक कार्रवाई में मोटरसायकिल सवार तीन युवकों में से दो के जान बचा कर भागने और एक के बुरी तरह जख्मी होने की तस्वीरें सीसीटीवी में कैद हुई हैं।

सीसीटीवी में कैद हुई घटना का क्रम यह है कि दो काले रंग के ट्रक एक खाली खड़क पर जाते दिखाई दे रहे हैं। अचानक दोनों ट्रक रुक जाते हैं और सामने से एक मोटरसायकिल में सवार तीन युवक आते हुए दिखाई देते हैं। इसके बाद ट्रक पर सवार सुरक्षा बल के जवान उन पर गोलियां चलाते हैं, मोटरसायकिल डगमगाते हुए एक गेट से टकराती है और दो युवक जान बचा कर भागते हैं वहीं तीसरा युवक घायल हो कर सड़क पर गिर जाता है। जवान ट्रक से नीचे उतर कर उस युवक को ट्रक में डालते हैं और ट्रक आगे बढ़ जाता है।

यह घटना सोशल मीडिया पर सार्वजनिक होने वाली अनेक तस्वीरों और वीडियो से भिन्न नहीं है जो निर्वाचित सरकार को बहाल करने की मांग कर रहे नागरिकों पर सैन्य कार्रवाई को दिखाती हैं।

बर्कले स्थित कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के मानवाधिकार केन्द्र जांच प्रयोगशाला के आंकलन के अनुसार, सेना और पुलिस शवों और घायलों के जरिए जनता में भय पैदा करना चाहते हैं।

देश में गिरफ्तारियों और मौतों की जानकारी रखने वाले संगठन ‘असिस्टेंस एसोसिएशन फॉर पॉलिटिकल प्रिजनर’ के अनुसार सैन्य तख्तापलट के बाद से 825 से अधिक लोग मारे गए हैं, जो सरकारी आंकडो से दोगुनी संख्या है।