कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हुई हाई लेवल मीटिंग के बाद मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन, संबंधित उपकरणों और कोरोना वैक्सीन के इम्पोर्ट पर कस्टम ड्यूटी की छूट की घोषणा की है. इस बात की जानकारी सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ इनडायरेक्ट टैक्स और कस्टम्स ने दी. कस्टम ड्यूटी तीन महीने के लिए माफ़ की गयी है.

टीकों, ऑक्सीजन और संबंधित उपकरणों की उपलब्धता बढ़ाने और इन्हें किफायती दरों पर सुलभ करने के लिए यह फैसला किया गया है.

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा गया कि कोविड-19 टीके पर 10 प्रतिशत का मूल सीमा शुल्क तथा ऑक्सीजन और ऑक्सीजन संबंधित उपकरणों पर आयात कर और स्वास्थ्य उपकर तीन महीने के लिए हटा दिया गया है. चिकित्सीय ऑक्सीजन पर पांच प्रतिशत की मूल दर से आयात शुल्क लगता है. टीके पर शुल्क की मूल दर 10 प्रतिशत है.

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में कोरोना के 67 हजार से अधिक नए मामले, मुंबई को कुछ राहत

गौरतलब है कि देश में एक दिन में कोविड-19 के 3,46,786 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,66,10,481 पर पहुंच गए हैं. इस समय उपचाराधीन मरीजों की संख्या 25 लाख से अधिक हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों में यह जानकारी दी गई. इन आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में 2,624 संक्रमितों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,89,544 हो गई है.

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में 24 अप्रैल को कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 38,055 नए मामले सामने आए

चिकित्सीय ऑक्सीजन के अलावा ऑक्सीजन कंसनट्रेटर के साथ प्रवाह मीटर, रेग्युलेटर, कनेक्टर्स और टयूबिंग, वैक्यूम प्रेशर स्विंग एब्जॉरप्शन (वीपीएसए), प्रेशर स्विंग एब्जॉरप्शन (पीएसए) ऑक्सीजन संयंत्र, क्रायोजेनिक ऑक्सीजन वायु पृथक्करण इकाइयां (एएसयू), लिक्विड/गैसीय ऑक्सीजन का उत्पादन, ऑक्सीजन कनस्तर, ऑक्सीजन भरने की प्रणाली, ऑक्सीजन भंडारण टैंक और ऑक्सीजन सिलेंडर पर कस्टम ड्यूटी की छूट दी गयी है.
ये भी पढ़ें: जस्टिस एन वी रमन्ना देश के 48वें मुख्य न्यायधीश बने, उनके बारे में जानिए

इनके अलावा ऑक्सीजन जेनरेटर, ऑक्सीजन ले जाने वाले आईएसओ कंटेनर, ऑक्सीजन के लिए क्रायोजेनिक रोड ट्रांसपोर्ट टैंक, उपरोक्त वस्तुओं का ऑक्सीजन के उत्पादन, परिवहन, वितरण या भंडारण के लिए उपकरणों का निर्माण सहित अन्य कई अन्य उपकरणों को छूट देने का फैसला किया गया है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली HC ने कहा- Oxygen Supply में अड़चन पैदा करने वाले व्यक्ति को हम लटका देंगे