सीतापुर के जिला कारागार में कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व रामपुर के सांसद मोहम्मद आजम खान और उनके पूर्व विधायक बेटे अब्दुल्ला खान को रविवार को लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए स्थानांतरित कर दिया गया.

मेदांता अस्पताल के निदेशक डॉ राकेश कपूर ने रविवार को जारी एक बयान में कहा कि आज रात नौ बजे सपा सांसद मोहम्मद आजम खान और उनके पुत्र अब्दुल्ला खान को कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए भर्ती कराया गया.

ये भी पढ़ें: COVID-19: जानिए देश के किस राज्य में लगा है कितने दिन का लॉकडाउन

उन्होंने बताया कि अस्पताल के चिकित्सकों ने शुरुआती जांच के बाद सपा सांसद को कोरोना का मध्यम संक्रमण बताया और उन्हें चिकित्सकों की निगरानी में ऑक्सीजन सहायता पर रखा गया है.

कपूर ने कहा कि अब्दुल्ला खान की स्थिति स्थिर और संतोषजनक है और उन्हें भी चिकित्सकों की निगरानी में रखा गया है.

इसके पहले सीतापुर के मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी (सीएमओ) मधु गैरोला सहित जिला अस्पताल के चिकित्सकों की टीम ने रविवार शाम को आजम खान का स्वास्थ्य परीक्षण किया और जेल प्रशासन के साथ ही जिला प्रशासन ने भी आजम खान को बेहतर इलाज के लिए लखनऊ ले जाने के लिए राजी कर लिया.

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में 5 अप्रैल के बाद पहली बार कोरोना के 50 हजार से कम नए मामले आए

सीतापुर जिला कारागार के डिप्‍टी जेलर ओंकार पांडेय ने बताया कि आजम खान और अब्दुल्ला की 30 अप्रैल को आरटीपीसीआर जांच में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी. एक सप्ताह पहले दो मई को प्रशासन ने बेहतर इलाज के लिए आजम खान को लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज ले जाने की सलाह दी लेकिन उन्होंने सीतापुर जेल से बाहर जाने से इंकार कर दिया था.

उल्लेखनीय है कि जमीन हथियाने, अतिक्रमण और अन्य गंभीर आपराधिक मामलों में आजम खान अपने बेटे के साथ फरवरी 2020 से ही जिला कारागार सीतापुर में बंद हैं. उनकी विधायक पत्नी को दिसंबर 2020 में अदालत ने जमानत दे दी थी.

ये भी पढ़ें: राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज चेतन सकारिया के पिता का COVID-19 से निधन