मध्य प्रदेश में 12वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द कर दी गई है. राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बात की घोषणा करते हुए कहा कि बच्चों की जिंदगी हमारे लिए अनमोल है, करियर की चिंता हम बाद में कर लेंगे.

सीएम शिवराज ने कहा, "मध्य प्रदेश में 12वीं बोर्ड की परीक्षा इस वर्ष आयोजित नहीं की जाएगी. बच्चों की जिंदगी हमारे लिए अनमोल है, करियर की चिंता हम बाद में कर लेंगे. ऐसे समय जब पूरा देश और प्रदेश कोरोना का संकट झेल रहा है तब बच्चों पर परीक्षाओं का मानसिक बोझ डालना उचित नहीं है."

रिजल्ट कैसे तैयार किया जाएगा? 

सीएम ने बताया, "12वीं बोर्ड के रिजल्ट किस प्रकार आएंगे इसके लिए मंत्रियों का एक समूह बना दिया गया है जो विशेषज्ञों से बात कर रिजल्ट का तरीका तय करेगा. अगर 12वीं का कोई बच्चा बेहतर परिणाम या सुधार के लिए परीक्षा देना चाहेगा तो उसके लिए विकल्प खुला रहेगा." 

यह भी पढ़ें: महाकाल मंदिर फिर मिले सैकड़ों साल पुराने अवशेष और मूर्ति

यह भी पढ़ेंः 12वीं बोर्ड परीक्षा कैंसिल होने के बाद बड़ा सवाल, एडमिशन कैसे होंगे? जानें, DU ने क्या कहा