चेन्नई, 19 अप्रैल (भाषा) श्रीलंका के महान क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन को सोमवार को यहां शहर के एक अस्पताल में ‘कोरोनरी एंजियोप्लास्टी’ के बाद छुट्टी दे दी गई।

‘एंजियोप्लास्टी’ चिकित्सा प्रक्रिया संकीर्ण या बाधित हृदय धमनियों को सामान्य करने के लिए की जाती है।

मुरलीधरन (49) इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूद सत्र में सनराइजर्स हैदराबाद के सहयोगी स्टाफ का हिस्सा हैं और पूर्व योजना के तहत वह रविवार को अस्पताल में भर्ती हुए थे।

यहां के अपोलो अस्पताल की ओर से सोमवार को जारी विज्ञप्ति के मुताबिक , ‘‘ अनुभवी हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. जी सेनगोत्तुवेलु के देखेरेख में ‘स्टंट’ के साथ उनकी कोरोनरी एंजियोप्लास्टी की गयी। वह जल्द ही सामान्य दिनचर्या की गतिविधियां फिर से शुरू करेंगे।’’

मुरलीधरन 1347 विकेटों के साथ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सबसे सफल गेंदबाज हैं।

सूत्र ने बताया कि वह सात दिनों के अनिवार्य पृथकवास के बाद फिर से सनराइजर्स हैदराबाद टीम से जुड़ेंगे।

मुरलीधरन ने श्रीलंका के लिए 133 टेस्ट मैचों में 800 विकेट लिए हैं। इसके अलावा उन्होंने 350 वनडे मैचों में 534 विकेट भी चटकाए हैं। उन्होंने 2010 में टेस्ट से संन्यास ले लिया था।

वह 1996 में विश्व चैम्पियन बनने वाली श्रीलंकाई टीम के सदस्य थे। उनका आखिरी वनडे मैच 2011 का विश्व कप फाइनल मैच था, जिसमें श्रीलंका को भारत के हाथों हार का सामना करना पड़ा था।

वह 2015 से सनराइजर्स हैदाबाद के गेंदबाजी कोच और मेंटोर है। उन्होंने आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स और कोच्चि टस्कर्स केरल (पूर्व टीम) का प्रतिनिधित्व किया है।

भाषा आनन्द नमिता

नमिता