विटामिन डी एकमात्र पोषक तत्व है जो आपका शरीर सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने पर पैदा करता है. हालांकि, दुनिया की 50 प्रतिशत आबादी को पर्याप्त धूप नहीं मिल पाती है. सूर्य के संपर्क, खाद्य पदार्थों और पूरक आहार से प्राप्त विटामिन डी जैविक रूप से निष्क्रिय होता है. विटामिन डी आंत में कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ावा देता है और सामान्य अस्थि खनिजकरण को सक्षम करने और हाइपोकैल्सीमिक टेटनी (मांसपेशियों के अनैच्छिक संकुचन और ऐंठन के लिए अग्रणी) को रोकने के लिए पर्याप्त सीरम कैल्शियम और फॉस्फेट सांद्रता बनाए रखता है. पर्याप्त विटामिन डी के बिना, हड्डियां पतली, भंगुर या विकृत हो सकती हैं. विटामिन डी पर्याप्तता बच्चों में रिकेट्स और वयस्कों में अस्थिमृदुता को रोकता है. कैल्शियम के साथ विटामिन डी भी वृद्ध वयस्कों को ऑस्टियोपोरोसिस से बचाने में मदद करता है.

यह भी पढ़ें:Health Tips: भूलकर भी देर रात नहीं खाएं ये 5 चीजें, पड़ सकता है भारी

शरीर में विटामिन डी की अन्य भूमिकाएँ होती हैं, जिसमें सूजन में कमी के साथ-साथ कोशिका वृद्धि, न्यूरोमस्कुलर और प्रतिरक्षा कार्य, और ग्लूकोज चयापचय जैसी प्रक्रियाओं का मॉड्यूलेशन शामिल है. लेकिन सूर्य विटामिन डी का एकमात्र सोर्स नहीं है. खानपान की कुछ ऐसी चीजें हैं जो विटामिन डी के बेस्ट सोर्स माने जाते हैं.

सोयाबीन

सोयाबीन में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन डी, ओमेगा- 3 फैटी एसिड, आयरन, विटामिन बी, जिंक, फोलेट, सेलेनियम आदि कई पोषक तत्व पाए जाते हैं.इसके सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं और ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा कम होता है.

पनीर

पनीर खाना किसे पसंद नहीं है? पनीर विटामिन डी और कैल्शियम का रिच सोर्स है. इसके सेवन से हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत होती हैं.

यह भी पढ़ें: Heart को स्वस्थ रखती हैं ये 5 सब्जियां, हर दिन जरूर करें सेवन

दूध

बचपन से ही हमें दूध पीने की सलाह दी जाती है. ऐसा इसलिए है क्योंकि दूध में कैल्शियम और विटामिन डी की भरपूर मात्रा पाई जाती है.

दही

दही में 81 प्रतिशत पानी होता है जो इसे पचाने में हल्का और आसान बनाता है. ये विटामिन डी का अच्छा स्रोत है.

पालक

पालक, प्रोटीन और विटामिन डी से भरपूर होता है. इसका सेवन करने से शरीर में विटामिन डी के साथ कई अन्य पोषक तत्वों की कमी भी पूरी होती है.

यह भी पढ़ें: अगर आपको सता रहा है नकली घी और दूध के सेवन का डर, तो ऐसे करें असली उत्पाद की गुणवत्ता

डिस्क्लेमर:खबरों में दी गई टिप्स एक सामान्य जानकारी है. आप इसका इस्तेमाल करने से पहले विशेषज्ञों की सलाह ले सकते हैं.