भारत में, पोषण और स्वस्थ खाने की आदतों के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल 1 सितंबर से 7 सितंबर तक राष्ट्रीय पोषण सप्ताह मनाया जाता है. लोगों को पोषण और अनुकूल खाने की आदतों के महत्व को समझाने के लिए ये सप्ताह मनाया जाता है ताकि वे एक स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रख सकें. संपूर्ण शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए भोजन और पोषण अनिवार्य है और जब से महामारी ने कहर बरपाया है, स्वस्थ भोजन और पोषण के बारे में जागरूकता हर नुक्कड़ और कोने में फैलने लगी है. यदि आपको वृद्धि और विकास के साथ सक्रिय जीवन की आवश्यकता है, तो संतुलित आहार आवश्यक है.

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह के दौरान, सरकार सही पोषण के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए विभिन्न पहल करती है. स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का वास होता है और इसके लिए हमें अपने दैनिक आहार में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन और विटामिन जैसे पोषक तत्वों का सेवन करना चाहिए.

यह भी पढ़ें: लेमनग्रास के फायदे सुन हैरान रह जाएंगे आप,कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से बचाता है

पोषण का महत्व

भोजन हमारे शरीर को ऊर्जा, प्रोटीन, आवश्यक वसा, विटामिन और खनिजों के साथ जीने, बढ़ने और ठीक से काम करने के लिए प्रदान करता है. इसलिए, अच्छे स्वास्थ्य और भलाई के लिए संतुलित आहार महत्वपूर्ण है. ऐसा कहा जाता है कि एक अस्वास्थ्यकर आहार से आहार संबंधी कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है.

अच्छा पोषण आवश्यक है क्योंकि

- खराब खान-पान से सेहत में कमी आती है.

- स्वस्थ वजन का प्रबंधन करने में मदद करता है.

-प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखता है.

-ऊर्जा प्रदान करें.

- बढ़ती उम्र के असर को कम करता है.

- पुरानी बीमारियों के खतरे को कम करता है.

- स्वस्थ खाने से आपके मूड पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

- एक स्वस्थ आहार जीवन काल को बढ़ाता है.

- साथ ही हेल्दी डाइट से फोकस बढ़ता है .

यह भी पढ़ें: अंडे के छिलकों को फेकने से पहले जान लें ये फायदे, पहले नहीं सुना होगा

शरीर में पोषण की कमी होने पर आपको इस तरह के 5 संकेत मिल सकते हैं.

नाखूनों पर निशान पड़ना (Nail Marks)

नाखून का खुद से टूट जाना और उनमें सफेद निशान पड़ना आपके लिए चिंता का विषय है. इसका मतलब साफ है कि आप में कैल्शियम और न्यूट्रीएंट की कमी संकेत दे रही है.

भूख न लगना (Lack Of Appetite)

शरीर में पोषण की कमी का मुख्य कारण भूख नहीं लगना भी है. शरीर में पर्याप्त कैलोरीज नहीं पहुंचने रप भूख लगना अक्सर बंद हो जाती

यह भी पढ़ें: मच्छर काटने की वजह जान हैरान हो जाएंगे आप, जानें कैसे करें सही इलाज

सेहत में बदलाव (Changes In Health)

शरीर में किसी भी तरह का बदलाव जैसे- सांस की बदबू, मुंह की सूजन, ओरल हेल्थ में बदलाव के संकेत हैं. इसका मतलब की आप में पोषण की कमी है.

बाल को झड़ना (Hair Fall)

अगर आपके बाल तेजी से झड़ रहे हैं या फिर उनमें रूखापन आ रहा है, तो ये कुपोषण के संकेत हो सकते हैं.

थकान महसूस होना (Feeling Tired)

अगर आपको थोड़ा सा भी काम करने पर थकान महसूस होने लगती है या फिर यूं कहें कि आप किसी भी काम में बहुत जल्दी थक रहे हैं और कमजोर महसूस कर रहे हैं, तो हो सकता है कि आपके शरीर में पोषण की कमी हो.

यह भी पढ़ें: Weight Loss: पेट की चर्बी कम करने के लिए करें ये 1 काम, कुछ दिनों में दिखेगा असर