नयी दिल्ली 22 मई (भाषा) बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवाती तूफान 'यास' के संभावित खतरे से निपटने के लिए भारतीय नौसेना ने अपने चार युद्धपोतों के अलावा कई विमानों को भी तैनात किया है।

इस तूफान के 26 मई को पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय इलाकों से टकराने की आशंका है।

इस सप्ताह की शुरुआत में देश के पश्चिमी तट पर आए भीषण चक्रवात 'ताउते' के बाद भारतीय नौसेना ने बड़े पैमाने पर राहत और बचाव अभियान चलाया था। चक्रवात के कारण महाराष्ट्र, गुजरात, केरल, कर्नाटक और गोवा में भारी तबाही हुई थी।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि बंगाल की खाड़ी के पूर्वी मध्य क्षेत्र में निम्न दबाव का क्षेत्र बन रहा है जिसके एक भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की पूरी आशंका है। यह चक्रवात 26 मई को पश्चिम बंगाल और ओडिशा के अलावा बंगलादेश के तटीय इलाकों से टकराएगा।

नौसेना ने कहा कि तूफान के संभावित खतरे से निपटने के लिए बाढ़ राहत एवं बचाव की आठ टीमों के अलावा गोताखोरों की चार टीमों को ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भेजा गया है।

नौसेना ने एक वक्तव्य में कहा, ' तूफान प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए नौसेना के विमानों को विशाखापत्तनम में आईएनएस देगा पर जबकि चेन्नई के पास आईएनएस राजाली पर तैयार रखा गया है। इनके जरिए राहत एवं बचाव अभियान चलाने के अलावा राहत सामग्री वितरित भी की जाएगी।'

भाषा

रवि कांत पवनेश

पवनेश