चंडीगढ़, 23 मई (भाषा) हरियाणा में अबतक ब्लैक फंगस के कुल 398 मामले आए हैं जिनमें सबसे अधिक 147 मरीज गुरुग्राम के हैं। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को दी।

विभाग ने बताया कि गुरुग्राम के अलावा हिसार में 50, फरीदाबाद में 46, सिरसा में 38, रोहतक में 21, भिवानी में 20, करनाल में 17, पानीपत में 15, अंबाला में 11, पंचकूला में सात, सोनीपत में छह, रेवाड़ी में पांच, जींद में दो और पलवल-यमुनानगर में एक-एक मामले आए हैं।

राज्य में ब्लैक फंगस या म्यूकरमाइकोसिस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने हाल में इस बीमारी के प्रबंधन के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता की।

उन्होंने इससे पहले बताया था कि राज्य सरकार ने कवक रोधी इंजेक्शन एम्फोटेरिसिन बी की खरीद के लिए वैश्विक निविदा जारी करने के लिए निर्देश दिए हैं।

विज ने कहा, ‘‘हमने केंद्र से 12 हजार इंजेक्शन मांगे हैं।’’

उन्होंने बताया कि इसके अलावा विशेषज्ञों से ब्लैक फंगस संक्रमितों के इलाज के लिए वैकल्पिक कवक रोधी इंजेक्शन पर विचार करने को कहा गया है।

मंत्री ने दोहराया कि राज्य सरकार ने पहले ही इससे निपटने के लिए कदम उठाए हैं जिनमें चिकित्सा महाविद्यालयों में 20 बिस्तर आरक्षित करने और विशेष इलाज के प्रबंधन जैसे कदम शामिल हैं।

गौरतलब है कि हरियाणा सरकार ने पिछले सप्ताह ब्लैक फंगस को अधिसूचित बीमारी घोषित किया था, जिससे अब डॉक्टरों को संबंधित मुख्य चिकित्सा अधिकारी को मामलों की जानकारी देनी होगी।