बेंगलुरु, 25 मई (भाषा) मिडफील्डर नीलकांत शर्मा को भरोसा है कि भारतीय पुरूष हॉकी टीम आगामी तोक्यो ओलंपिक में फिर इतिहास रचेगी और उनका कहना है कि चार दशक से चले रहे आ रहे पदक के सूखे को समाप्त करने के लिये सही समय पर अच्छा प्रदर्शन करना जरूरी है।

भारत ने ओलंपिक में आठ स्वर्ण पदक जीते हैं लेकिन टीम ने अंतिम बार शीर्ष स्थान 1980 मॉस्को ओलंपिक में हासिल किया था।

नीलकांत कप्तान मनप्रीत सिंह के साथ भारतीय टीम की मिडफील्ड के अहम खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हर कोई अपने खेल के बारे में आत्मविश्वास से भरा है और अगर हम अपनी पूरी क्षमता के अनुसार खेलते हैं तो हम निश्चित रूप से तोक्यो ओलंपिक में इतिहास रच सकते हैं। यह सही समय पर अपना बेहतर करने के बारे में है और जब ओलंपिक शुरू होगा तो हमारा ध्यान मुख्य रूप से इसी पर लगा होगा। ’’

मणिपुर के इस खिलाड़ी ने कहा कि वह मनप्रीत के बड़े प्रशंसक हैं जिनसे उन्होंने काफी कुछ सीखा है।

उन्होंने कहा, ‘‘अभी तक भारतीय टीम के साथ सफर शानदार रहा है। हमने काफी ऊंचाइयों को देखा है और मुझे लगता है कि हम आगामी वर्षों में इससे भी बेहतर कर सकते हैं। मैं काफी भाग्यशाली हूं कि मुझे मिडफील्ड में मनप्रीत सिंह जैसे खिलाड़ी के साथ खेलने का मौका मिला। मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है। ’’