नयी दिल्ली, 19 अप्रैल (भाषा) कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आग्रह किया कि राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) से अनुमति लेने संबंधी अनिवार्यता खत्म की जाए।

उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर यह भी कहा कि इस व्यवस्था से लोगों को बहुत परेशानी हो रही है और कई मरीजों की जान भी चली गई है।

प्रियंका ने पत्र में कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश की कई जगहों से ये खबर आ रही है कि कोविड मरीजों को अस्पताल में दाखिले के लिए सीएमओ की अनुमति की आवश्यकता पड़ रही है। इस प्रक्रिया के चलते मरीजों को अस्पताल में भर्ती के लिए लम्बा इंतज़ार करना पड़ रहा है और उनके परिजन एक जगह से दूसरी जगह भागदौड़ कर रहे हैं। इस व्यवस्था के चलते कई लोगों की जान भी चली गई है।’’

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी के मुताबिक, ऑक्सीजन सिलिंडर के मामले में भी समस्या सामने आ रही है। ऑक्सीजन प्लांट्स और ऑक्सीजन फिलिंग केंद्रों पर बिना डीएम की अनुमति के किसी को ऑक्सीजन नहीं मिल रही। अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त बेड का पहले से ही भयानक संकट है।

उन्होंने आग्रह किया, ‘‘अस्पताल में कोविड मरीजों के दाखिले की व्यवस्था हर एक जान जरूरी को मंत्र मानकर सरल बनाइये। साथ ही साथ अस्पतालों व उपलब्ध बेडों का केंद्रीकृत डाटाबेस जारी करिए, जिससे कि लोग सीधे जाकर कोविड मरीजों का अस्पताल में दाखिला करा सकें।’’

प्रियंका ने कहा, ‘‘यह समय मुश्किल में पड़ी जनता के लिए संवेदना के साथ मदद करने का है। इस महाविपत्ति में हम सबको राजनीति से ऊपर उठकर काम करने की जरूरत है। कांग्रेस पार्टी प्रदेश की जनता साथ एकजुट है और सरकार को हर तरीके से मदद करने के लिए तैयार है।’’