पुडुचेरी, 25 मई (भाषा) केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में नवनिर्वाचित विधायकों का शपथ ग्रहण बुधवार को होगा हालांकि एआईएनआरसी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) मंत्रिमंडल का गठन होना अभी बाकी है। वहीं, इसके नेता एन रंगासामी मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले चुके हैं।

इसके अलावा नवनिर्वाचित विधायक, तीन मनोनीत भाजपा विधायक भी 26 मई को शपथ लेंगे। केंद्र शासित प्रदेश में छह अप्रैल को हुए चुनाव के नतीजे घोषित होने के तीन सप्ताह बाद यह शपथ ग्रहण होगा।

उपराज्यपाल तमिलिसाई सौंदराराजन एआईएनआरसी विधायक के लक्ष्मीनारायणन को बुधवार को विधानसभा के अस्थायी अध्यक्ष पद की शपथ दिलायेंगी।

लक्ष्मीनारायणन 30 सदस्यीय विधानसभा में नवनिर्वाचित विधायकों और मनोनित सदस्यों को पद की शपथ दिलायेंगे। मनोनीत सदस्यों को मिलाकर विधानसभा में 33 सदस्य हैं।

पुडुचेरी में छह अप्रैल को चुनाव हुए थे और दो मई को परिणाम आया था। एआईएनआरसी के नेतृत्व में राजग ने चुनाव जीता है।

सात मई को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के तुरंत बाद रंगासामी कोविड-19 से संक्रमित हो गये थे और पास के चेन्नई में उनका उपचार चला था। पिछले सप्ताह ही वह पुडुचेरी वापस आये। अपनी कैबिनेट में शपथ लेने वाले वह एकमात्र सदस्य हैं।

वह गठबंधन सरकार का नेतृत्व कर रहे हैं जिसमें भाजपा भी शामिल है। भाजपा ने ए नमसशिवायम के लिए उपमुख्यमंत्री पद समेत तीन मंत्री पद की मांग की है। नमसशिवायम पूर्व कांग्रेस नेता हैं जो हाल में भाजपा में शामिल हुए हैं।

राजग ने 30 में से 16 सीटें जीती हैं जिसमें एआईएनआरसी ने 10 सीटें और शेष पर भाजपा ने जीत दर्ज की है जबकि सहयोगी अन्नाद्रमुक एक भी सीट नहीं जीत पायी।

रंगासामी को छह निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन मिलने की संभावना है।

विपक्षी द्रमुक और कांग्रेस ने क्रमश: छह और दो सीटों पर जीत दर्ज की।

मंत्रिमंडल का विस्तार करना फिलहाल रंगासामी की प्राथमिकता होगी।