पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में कोई परिवर्तन नहीं आया है और उनके हृदय की स्थिति स्थिर है. वह अब भी वेंटिलेटर पर हैं. अस्पताल ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

मुखर्जी को दिल्ली छावनी स्थित सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में 10 अगस्त को भर्ती कराया गया था और उनकी मस्तिष्क की सर्जरी हुई थी.

पूर्व राष्ट्रपति की जांच में कोरोना वायरस संक्रमण की भी पुष्टि हुई थी. इसके बाद उनके फेफड़ों में संक्रमण हो गया था जिसका इलाज किया जा रहा है.

अस्पताल में डॉक्टरों की एक टीम उनके स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखे है.

अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया, “प्रणब मुखर्जी की चिकित्सकीय हालत वैसी ही बनी हुई है. उनके फेफड़ों में संक्रमण का इलाज किया जा रहा है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है. उनके महत्वपूर्ण स्वास्थ्य मानकों पर नजर रखी जा रही है और उनके हृदय के काम करने की स्थिति स्थिर है.”

बता दें, प्रणब मुखर्जी 2012 से 2017 तक भारत के राष्ट्रपति थे. इससे पहले वह एक बड़े और सफल राजनेता थे. उन्होंने देश की राजनीति में लंबा सफर तय किया है.