दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया था कि सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए बेहद ख़तरनाक बताया जा रहा है, भारत में ये तीसरी लहर के रूप में आ सकता है. दिल्ली सीएम के इस दावे को काटते हुए भारत में सिंगापुर के उच्चायोग ने कहा कि इस बात में कोई सच्चाई नहीं है कि सिंगापुर में एक नया कोविड स्ट्रेन आया है.

भारत में सिंगापुर के उच्चायोग ने बयान जारी कर कहा, "इस बात में कोई सच्चाई नहीं है कि सिंगापुर में एक नया कोविड स्ट्रेन आया है. फायलोजेनेटिक परीक्षण से पता चला है कि सिंगापुर में हाल के हफ्तों में बच्चों सहित कई कोविड मामलों में B.1.617.2 वैरिएंट प्रचलित है, जोकि भारत में ही उत्पन्न हुआ है."

इससे पहले दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने ट्वीट, "सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए बेहद ख़तरनाक बताया जा रहा है, भारत में ये तीसरी लहर के रूप में आ सकता है." इसके बाद उन्होंने केंद्र सरकार से अपील करते हुए लिखा था, "केंद्र सरकार से मेरी अपील:

1. सिंगापुर के साथ हवाई सेवाएं तत्काल प्रभाव से रद्द हों.

2. बच्चों के लिए भी वैक्सीन के विकल्पों पर प्राथमिकता के आधार पर काम हो."

सिंगापुर के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ओंग ये कुंग ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया कि B.1.617 'बच्‍चों को ज्‍यादा प्रभावित करता दिख रहा है.' बता दें कि ये स्‍ट्रेन सबसे पहले भारत में पाया गया था.

ये भी पढ़ें:मुंबई में ढाई महीने बाद कोरोना के एक हजार से कम केस रिकॉर्ड हुए

ये भी पढ़ें: भारत में पिछले एक दिन में 4 लाख से अधिक कोरोना मरीज स्वस्थ हुए, देश में अब तक सर्वाधिक