जयपुर, 28 अप्रैल (भाषा) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि राज्य सरकार कोरोना संक्रमण की दूसरी घातक लहर से बेहद चिंतित है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि लोगों की जीवन रक्षा के लिए जहां से और जिस तरह से संसाधन जुटा सकते हैं, जुटाएं।

गहलोत ने कहा कि संकट की इस घड़ी में पूरे हौसले और हिम्मत के साथ हम हमारी पूरी ताकत प्रदेशवासियों का जीवन बचाने में लगा दें। उन्होंने कहा कि हमारा हर प्रयास इस संकट को दूर करने के लिए हो।

गहलोत बुधवार देर रात मख्यमंत्री निवास पर वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड की दूसरी लहर में हो रही मौतें संक्रमण की भयावह स्थिति दर्शाती है।

उन्होंने बताया कि पहली बार देखने में आ रहा है कि युवा भी इस खतरनाक वायरस से असमय ही मौत के शिकार हो रहे हैं, साथ ही, भर्ती होने वाले ज्यादातर रोगियों को हाई फ्लो आक्सीजन की आवश्यकता पड़ रही है, ऐसे में, यह समय हमारे लिए चिंताजनक होने के साथ-साथ चुनौती भरा भी है।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि ऑक्सीजन सांद्रक , सिलेण्डर, फ्लो मीटर एवं दवाओं सहित अन्य जरूरी संसाधन आयात करने की आवश्यकता है, तो इसके लिए योजना बनाकर उसे त्वरित रूप से अंजाम दें। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अलावा, केन्द्र सरकार, स्थानीय स्रोतों एवं कम्पनियों से भी लगातार सम्पर्क कर प्रदेश की जरूरतों को जल्द से जल्द पूरा करें।

उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों द्वारा व्यक्त की गई तीसरी एवं चैथी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए अभी से पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित किए जाएं और राज्य सरकार इसमें वित्तीय संसाधनों की कोई कमी नहीं आने देगी।

भाषा पृथ्वी

रंजन

रंजन