चंडीगढ़ , 28 अप्रैल (भाषा)कोविड-19 मामलों में भारी वृद्धि को 'अप्रत्याशित सुनामी' करार देते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बुधवार को कहा कि इस संकट से निपटने के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर खट्टर ने कहा '' बारिश के मौसम में कोई भी बाढ़ आने की तो आशंका जता सकता है, लेकिन सुनामी की नहीं। ''

उन्होंने कहा कि सरकार बिस्तरों की उपलब्धता, चिकित्सीय आक्सीजन की आपूर्ति और जरूरी दवाओं की उपलब्धता समेत कई स्तरों पर कार्य कर रही है।

यहां एक पत्रकार वार्ता में खट्टर ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार पर नियंत्रण के लिए धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू करने, रात्रि कर्फ्यू, दुकानों के बंद होने के समय में कटौती समेत कई कदम उठाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि अस्पतालों में अतिरिक्त बिस्तर बढ़ाने के साथ-साथ कोविड-19 संक्रमितों की देखभाल के लिए एमबीबीएस और परास्नातक छात्रों को तैनात किया गया है।

गौरतलब है कि अप्रैल में हरियाणा में संक्रमण के मामलों में भारी उछाल के साथ-साथ मौतों की संख्या भी बढ़ी है।

उन्होंने कहा कि पिछले साल संक्रमण के उच्चतर स्तर के दौरान 24 घंटे में 3100 मामले सामने आए थे जो 27 अप्रैल 2021 को ही करीब चार गुना हो गए थे।

उन्होंने हल्के और मध्यम लक्षणों वाले मरीजों से आग्रह किया कि वह जब तक अस्पताल में जाकर भीड़ न बढ़ाए जब तक कि चिकित्सक उपचार के लिए इसकी (अस्पताल में भर्ती होने की) सख्त जरूरत होने की सलाह नहीं दे।