नोएडा (उप्र), 22 मई (भाषा) लॉकडाउन के दौरान थाना फेस-2 क्षेत्र के गेझा गांव में पुलिस की कथित मिलीभगत से बहुत सारी गैर जरूरी दुकानें खुली होने की शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने गेझा चौकी के प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में मौजूदा समय में लॉकडाउन चल रहा है। इसके अंतर्गत आवश्यक वस्तुओं व सेवा की दुकानों के अलावा सभी तरह की दुकानें तथा प्रतिष्ठान बंद रखे गए हैं।

उन्होंने बताया कि कई माध्यमों से आला अधिकारियों को सूचना मिल रही थी कि पुलिस की मिलीभगत से गेझा गांव में लॉकडाउन होने के बावजूद बहुत सारी दुकानें खुली हैं, जो आवश्यक सेवाओं की श्रेणी में नहीं आती हैं।

मीडिया प्रभारी ने बताया कि इस मामले की गोपनीय जांच की गई तथा तथ्य सही पाए जाने पर गेझा पुलिस चौकी के प्रभारी उपनिरीक्षक प्रवीण कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

उन्होंने बताया कि इस मामले में विभागीय जांच भी की जा रही है।