देशभर में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या हर दिन साढ़े तीन लाख से ज्यादा आ रही है. हर दिन 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौतें हो रही हैं, ऐसे में केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को स्वेच्छा से लॉकडाउन लगाने के अधिकार दिए हैं. आज ओडिशा सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 5 मई से राज्य में 14 दिन का लॉकडाउन लगाने की रविवार को घोषणा की है.

यह भी पढ़ें- क्या नंदीग्राम से चुनाव हारने पर भी ममता बनर्जी संभालेंगी सीएम की कुर्सी?

ANI के मुताबिक, ओडिशा सरकार ने 5 से 19 मई तक लॉकडाउन लगाने की घोषणा की.

ओडिशा सरकार ने ये लॉकडाउन 5 मई (बुधवार) की सुबह से 19 मई की सुबह 7 बजे तक लगाया है. सरकार ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाओं, हेल्थ सेवाओं को छूट रहेगी. इसके अलावा सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक अपने घरों से 500 मीटर के दायरे से लोग निकल सकते हैं, जिससे वे अपने जरूरी काम कर सकें.

ये भी पढ़ें: नंदीग्राम: ममता बनर्जी के खिलाफ BJP के शुभेंदु अधिकारी करीब 4,000 वोट से आगे

राज्य सरकार ने दिए निर्देश

लॉकाडाउन के दौरान वे सिर्फ चिकित्सीय सेवा के लिए ही घर से निकल सकेंगे. सरकारी आदेश में लिखा है कि लॉकडाउन और साप्ताहिक बंदी किसी भी चुनाव संबंधी कार्य पर लागू नहीं किया जाएगा.जैसे पिपिली विधानसभा सीट पर उपचुनाव कराने में शामिल कर्मियों की आवाजाही. पिपिली में 16 मई को उपचुनाव होना है.

बता दें, पिछले 24 घंटों में ओड़ीशा राज्य में कोविड के 8015 नए मामले सामने आए हैं. इस समय ओड़ीशा में 69453 एक्टिव केस हैं. इन नए आंकड़ों को मिलाकर वहां अब कुल 462622 कोरोना मामले हो गए हैं और 2068 मौतें हो चुकी हैं.

ये भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल 2021 विधानसभा चुनाव का जादुई आंकड़ा क्या है? कहां खड़ी है TMC-BJP

ये भी पढ़ें: अखिलेश यादव ने कहा- 'दीदी ओ दीदी' कटाक्ष का बंगाल में बीजेपी को मुंहतोड़ जवाब