दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो कथित रूप से सीबीआई का अधिकारी बन लोगों को लिफ्ट देकर लूटता था.

पुलिस ने बृहस्पतिवार को बताया कि आरोपी की पहचान 39 वर्षीय टिंकल उर्फ टेढा के तौर पर हुई है. वह पूर्वी दिल्ली के त्रिलोकपुरी इलाके में रहता है. उन्होंने बताया कि उसे मंगलवार को उसके घर से गिरफ्तार किया गया. उसके साथी मुकेश और गिरेंद्र फरार हैं.

शिकायत पर पुलिस ने की कार्रवाई 

यह मामला तब सामने आया जब अजीत कुमार पाल ने 30 जून को पुलिस को शिकायत की. उन्हें आरोपियों ने कथित रूप से लूट लिया था.

पुलिस के मुताबिक, पाल ने उन्हें बताया कि वह और उनका एक दोस्त महारानी बाग से बुराड़ी के लिए एक कार में बैठे. इस कार में पहले से तीनों आरोपी बैठे थे और कुछ देर बाद आरोपियों ने पाल और उनके दोस्त को धमकाया और उन्हें एटीएम कार्ड देने को मजबूर किया.

उन्होंने बताया कि तीनों ने दावा किया कि वे सीबीआई अधिकारी हैं. उनके पास हथियार तथा बेतार संचार उपकरण भी थे.

पुलिस ने बताया आरोपियों ने पाल और उनके दोस्तों को कश्मीरी गेट पर आईएसबीटी के पास उतारा और एटीएम कार्ड के जरिए उनके खातों से 1.70 लाख रुपये निकाले.

सीसीटीवी फुटेज से हुई पहचान 

दक्षिण पश्चिम दिल्ली के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त कुमार ज्ञानेश ने बताया कि आरोपियों की पहचान करने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाली गई.

उन्होंने बताया कि एक फुटेज में दिखा कि मास्क लगाए लोग कमला नगर इलाके के एक एटीएम से पैसे निकाल रहे हैं.

अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने अपराध में अपनी कार का इस्तेमाल किया. उन्होंने बताया कि आरोपी लक्ष्य की पहचान करने के बाद लिफ्ट देने के बहाने से उसे कार में बैठाते और कुछ दूर जाने के बाद खुद को सीबीआई या पुलिस का अधिकारी बता कर उनसे लूटपाट करते और एटीएम का पिन देने को मजबूर करते. इसके बाद पीड़ित को सुनसान जगह पर छोड़ कर भाग जाते.

पुलिस ने बताया कि आरोपी पहले झपटमारी, लूट और चोरी समेत 10 मामलों में शामिल रहे हैं.