अहमदाबाद, 28 अप्रैल (भाषा) गुजरात के अहमदाबाद के अस्पतालों में केवल 152 ऑक्सीजन बेड उपलब्ध होने के चलते नगर निकाय ने नागरिकों से बेहद जरूरी होने पर ही घर से निकलने का आग्रह किया है। एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।

अहमदाबाद नगरपालिका (एएमसी) ने डेढ़ महीने के भीतर अस्पतालों में कुल बेड क्षमता को दोगुना कर दिया है और बीते 15 दिनों में 2,000 से ज्यादा ऑक्सीजन सिलेंडर युक्त बिस्तर बढ़ाए हैं।

मंगलवार रात जारी एक विज्ञप्ति में, नगर निकाय ने कहा कि शहर के अस्पतालों में अब केवल 152 गहन देखभाल (ऑक्सीजन और आईसीयू) बेड उपलब्ध हैं और वे भी बहुत तेजी से भर रहे हैं।

शहर में हर दिन कोरोना वायरस के मामले बढ़ने से अस्पताल मरीजों से भरे हुए हैं।

नगरपालिका ने बताया कि अहमदाबाद से बाहर के कम से कम 800 मरीजों का भी शहर के अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

विज्ञप्ति में बताया गया कि कुल 168 अस्पतालों को कोविड-19 अस्पतालों के रूप में निर्दिष्ट किया गया है और 180 नर्सिंग होम को कोविड देखभाल केंद्र बनाया गया है जिनमें 15,000 से ज्यादा बेड हैं। इनमें से 7,500 बेड पिछले डेढ़ महीने में बढ़ाए गए हैं।

इसमें कहा गया, “अहमदाबाद के कई अस्पताल गुजरात के अन्य हिस्सों और अन्य राज्यों के मरीजों से भरे हुए हैं। अनुमान है कि अहमदाबाद से बाहर के 800 मरीजों का शहर के अस्पतालों में इलाज चल रहा है।”

नगर निकाय ने कहा कि इसका परिणाम यह हुआ कि निगम के चार अस्पतालों सहित मेडिसिटी, सोला सिविल में सभी अस्पताल पूरे भरे हुए हैं।

विज्ञप्ति में कहा गया कि ज्यादातर मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है इसलिए अब महज 152 ऐसे बेड बचे हैं और अपील की कि संक्रमण के चरम पर होने के चलते लोगों को बेहद जरूरी न होने तक घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।

भाषा

नेहा नरेश

नरेश