सागर (मप्र)/हैदराबाद, 19 अप्रैल (भाषा) कोरोना वायरस से संक्रमित 40 वर्षीय एक कोरोना योद्धा चिकित्सक को एयर एंबुलेंस से बेहतर उपचार के लिए हैदराबाद ले जाया गया है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर प्रदेश सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई एयर एंबुलेंस से उन्हें हैदराबाद भेजा गया।

डॉ. सत्येंद्र मिश्रा का इलाज कर रहे क्षय रोग विशेषज्ञ डॉ. सौरभ जैन ने सोमवार को बताया कि हैदराबाद के चिकित्सकों की टीम रविवार आधी रात को सागर पहुंची और उन्होंने डॉ. मिश्रा को वेंटिलेटर पर रखकर संपूर्ण परीक्षण किया।

उन्होंने कहा कि इसके कुछ ही घंटे बाद तड़के पांच बजे सड़क मार्ग से 175 किलोमीटर लंबा ग्रीन कॉरिडोर बनाकर उन्हें भोपाल हवाईअड्डे ले जाया गया, जहां से एयर एंबुलेंस से उन्हें हैदराबाद ले जाया गया।

जैन ने बताया कि डॉ. सत्येंद्र मिश्रा सोमवार सुबह साढ़े दस बजे हैदराबाद के अस्पताल पहुंचे और उनका इलाज शुरू हो गया है।

मालूम हो कि डॉ. सत्येंद्र मिश्रा के फेफड़ों में संक्रमण बहुत ज्यादा फैलने के कारण चिकित्सकों ने उन्हें प्रतिरोपण की सलाह देते हुए सर्जरी के लिए हैदराबाद जाने की सलाह दी।

हैदराबाद में इलाज को लेकर डॉक्टर की आर्थिक सहायता के लिए सागर के भाजपा विधायक शैलेन्द्र जैन व जिला कलेक्टर दीपक सिंह के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अवगत कराया गया, जिसके बाद मुख्यमंत्री की पहल पर उन्हें एयर एंबुलेंस के माध्यम से भेजा गया।

डॉ. सत्येंद्र मिश्रा बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय में सहायक प्रोफेसर के पद पर क्षय एवं छाती रोग विभाग में पदस्थ हैं।

बीमार चिकित्सक के भाई जन्मेजय मिश्रा ने कहा कि डॉक्टर मिश्रा को सिकंदराबाद स्थित यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उन्हें ऑक्सीजन दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि क्योंकि उनके भाई को फेफड़ा प्रतिरोपण की आवश्यकता है, इसलिए उन्हें निगरानी में रखा गया है।

मिश्रा ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘डॉक्टरों ने हमसे कहा कि वे उन्हें (डॉक्टर मिश्रा) तीन दिन तक निगरानी में रखेंगे और फिर आगे के उपचार के बारे में निर्णय करेंगे।’’