प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसलमेर के लोंगेवाला में सैनिकों के साथ दिवाली मनाने पहुंचे हैं. उन्होंने कहा कि बॉर्डर पर तैनात जवानों के बीच जाकर ही उनकी दिवाली पूरी होती है. पीएम मोदी के साथ सीडीएस बिपिन रावत, आर्मी चीफ एमएम नरवणे, एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया और बीएसएफ के डीजी राकेश अस्थाना भी मौजूद हैं.

आपको बता दें, भारत-पाकिस्तान की सीमा जैसलमेर से मिलती है और यहां बॉर्डर पर बीएसएफ तैनात है. यहां पर प्रसिद्ध तनोट माता का मंदिर भी स्थित है. पीएम जैसलमेर के लोंगेवाला बॉर्डर पर BSF जवानों के साथ दिवाली मना रहे हैं और यह मूल रूप से बीएसएफ का एक पोस्ट है. एक दिन पहले पीएम मोदी ने अपने एक ट्वीट के जरिए देशवासियों को शहीदों के लिए एक दीया जलाने की अपील की थी.

ANI के मुताबिक, पीएम मोदी ने कहा, 'मां भारती की सेवा और सुरक्षा में 24 घंटे डटे रहने वाले आप सभी वीरों को मेरी और 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से दिवाली की बधाई. आप हैं तो देश है, देश के लोगों की खुशियां हैं, देश के ये त्योहार हैं.'

उन्होंने आगे कहा, 'आप भले बर्फीली पहाड़ियों पर रहें या फिर रेगिस्तान में, मेरी दिवाली तो आपके बीच आकर ही पूरी होती है. आपके चेहरों की रौनक देखता हूं, आपके चेहरे की खुशियां देखता हूं, तो मुझे भी अनेक गुना खुशी होती है.'

ANI के मुताबिक, पीएम मोदी ने कहा, 'देश की सरहद पर अगर किसी एक पोस्ट का नाम देश के सबसे ज़्यादा लोगों को याद होगा, अनेक पीढ़ियों को याद होगा, उस पोस्ट का नाम लोंगेवाला पोस्ट है। इस पोस्ट पर आपके साथियों ने शौर्य की एक ऐसी गाथा लिख दी है जो आज भी हर भारतीय के दिल को ​जोश से भर देती है'

ANI के मुताबिक, पीएम मोदी ने कहा, 'मैं आज देश के नौजवानों से देश की सेनाओं के लिए निर्माण करने का आह्वान करता हूं. हाल के दिनों में अनेक स्टार्ट-अप्स सेनाओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए आगे आए हैं. डिफेंस सेक्टर में नौजवानों के नए स्टार्ट-अप्स देश को आत्मनिर्भरता के मामले में और तेजी से आगे ले जाएंगे.'