कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पीएम मोदी के 'कांग्रे मुक्त भारत' बयान पर निशाना साधा है. उन्होंने इस बयान की आलोचना करते हुए कहा पीएम मोदी को केवल कांग्रेस से ही समस्या है, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) से नहीं.

राहुल गांधी ने कहा, 'प्रधानमंत्री जहां भी जाते हैं, कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं. जब वह सुबह उठते हैं तब कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं और जब वह सोने जाते हैं तब कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं. प्रधानमंत्री कभी माकपा मुक्त भारत क्यों नहीं कहते?'

यह भी पढ़ेंः बीजेपी पर आरोप लगाते हुए बोले कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला- EVM मशीने हमेशा इन्हीं के पास क्यों मिलती है?

राहुल ने कहा, 'उन्हें वामदलों से कोई समस्या नहीं है लेकिन कांग्रेस से है.'

केरल में छह अप्रैल को होने वाले पहले चरण के मतदान से पहले चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे गांधी ने एक सभा को संबोधित करते हुए यह बयान दिया.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस जहां लोगों को जोड़ने का काम करती रही वहीं, वामदल लोगों में विभाजन पैदा करते रहे. राहुल ने कहा कि हम (कांग्रेस) जहां भी जाते हैं, सबको जोड़ने का काम करते हैं.

यह भी पढ़ेंः PPF समेत Post Office के अन्य योजानाओं पर TDS संबंधित नए नियम जान लें

उन्होंने कहा, 'हम जोड़ने वाली ताकत हैं. हम जहां भी जाते हैं, लोगों की पहचान करते हैं और उन्हें एक करते हैं और शक्तिशाली बनाते हैं.'

वहीं, आरएसएस को आड़े हाथों लेते हुए गांधी ने कहा कि संघ यह समझता है कि जो लोग सबको जोड़ते हैं उनसे उसे सबसे बड़ा खतरा है.

गांधी ने कहा, “और वे बहुत अच्छी तरह समझते हैं कि उनकी तरह वामदल भी समाज को बांटने का काम करता है.”

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, एक दिन में आए 49 हजार से ज्यादा मामले

उन्होंने कहा, “वामपंथ भी आक्रोश और हिंसा की विचारधारा है. कांग्रेस ने कभी घृणा नहीं फैलाई और केवल सबको एक किया.”

उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार का विभाजन देश और राज्य को कमजोर करेगा. गांधी ने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा सभी भारतीयों को समान रूप से लाभ पहुंचाने की है और देश तभी प्रगति करेगा जब वह एक रहेगा.

(इनपुट पीटीआई से)