प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय रामविलास पासवान को उनके बरसी पर एक संदेश लिखकर याद किया और दुख व्यक्त किया है. इस बात की जानकारी रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने ट्वीट कर दी है. चिराग ने पीएम मोदी के प्रति आभार प्रकट किया है. आपको बता दें, पिता रामविलास पासवान की बरसी पर चिराग पासवान ने पटना में एक बड़े कार्यक्रम को आयोजन किया है.

प्रधानमंत्री के संदेश में स्वर्गीय राम विलास पासवान के लिए सम्मान, स्नेह व अपने मित्र को खोने का ग़म दिखा. पीएम ने अपने संदेश में पासवान के सम्पूर्ण जीवन के उपलब्धियों को सराहा व उस पर रोशनी डाली. उन्होंने पत्र में कहा कि नए राजनैतिक लोगों को रामविलास पासवान से सीख लेनी चाहिए.

यह भी पढ़ेंः गुजरात में बीजेपी को चाहिए लाइम लाइट वाला सीएम चेहरा? विजय रुपाणी की यही थी सियासी कमजोरी

चिराग पासवान ने अपने ट्वीट में पत्र का जवाब देते हुए लिखा, "पिता जी के बरसी के दिन आदरणीय प्रधानमंत्री जी का संदेश प्राप्त हुआ है. सर आपने पिता जी के पूरे जीवन के सारांश को अपने शब्दों में पिरो कर उनके द्वारा समाज के लिए किए गए कार्यों का सम्मान किया है व उनके प्रति अपने स्नेह को प्रदर्शित किया है. यह पत्र मेरे और मेरे परिवार को इस दुःख की घड़ी में शक्ति प्रदान करता है. आप का स्नेह व आशीर्वाद हमेशा बना रहे."

एलजेपी नेता चिराग पासवान ने पिता की पहली पुण्यतिथी के मौके पर राजधानी पटना में एक कार्यक्रम आयोजित किया है. इसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी से लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को आमंत्रित किया गया है. इस कार्यक्रम में चिराग ने हमेशा बेरूख रहने वाले सीएम नीतीश कुमार को भी आमंत्रित किया है. वहीं, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव से खुद मिलकर चिराग ने उन्हें भी आमंत्रित किया है.

यह भी पढ़ें: प्रियंका टिबरीवाल: ममता बनर्जी के खिलाफ भबानीपुर से BJP की प्रत्याशी, इनके बारे में सब जानें

चिराग पासवान ने इस कार्यक्रम को गैर राजनीतिक बताया है और उनका कहना है कि उनके पिता ने कई पार्टियों और उनके नेताओं के साम मिलकर काम किया है. इसलिए उन्होंने उन सभी लोगों को उन्होंने विशेष आमंत्रित किया है जो उनके साथ रहे हैं.

हालांकि, सियासी गलियारों में इसे चिराग की सियासी रणनीति बताई जा रही है जो उनकी आगे की रणनीति तय करेगी. ऐसे में लोगों की नजय चिराग के इस आयोजित कार्यक्रम पर होगी की इस कार्यक्रम में कौन शामिल होता है और कौन नहीं. चिराग को भी शायद यहीं इंतजार होगा की उनके आमंत्रण पर उनके साथ कौन खड़े होंगे.