उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में अन्‍तरधार्मिक विवाह की सूचना पर पुलिस ने एक शादी रुकवा दी थी लेकिन यह पता चलने पर कि वर-वधू एक ही समुदाय के हैं, बाद में दोनों की शादी करा दी गई.

कुशीनगर के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने शुक्रवार को बताया '' मंगलवार की शाम को किसी ने लव जिहाद की आशंका जताते हुए सूचना दी कि गुरमिया गांव में एक व्‍यक्ति शादी कर रहा है. क्षेत्राधिकारी कसया की अगुवाई में पुलिस टीम ने मौके पर जाकर एक मौलवी (मुस्लिम धर्मगुरु) और शादी कर रहे जोड़े (युवती-युवती) को थाने ले आई. पुलिस ने छानबीन में पाया कि दोनों बालिग हैं और एक ही धर्म (मुस्लिम) के हैं.''

Maharashtra में सरकारी कर्मचारियों के लिए जारी किया गया ड्रेस कोड, दफ्तर में इन कपड़ों के पहनने पर होगी रोक

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि लव जिहाद की शिकायत अफवाह साबित होने पर बुधवार को दोनों पक्षों और माता-पिता की उपस्थिति में कसया में यह शादी हुई.

उन्‍होंने दावा किया कि किसी पुलिसकर्मी ने न किसी की पिटाई की और न ही दंपति को परेशान किया. लड़की कुछ दिन पहले लड़के साथ चली आई थी जिसके चलते घर वालों ने आजमगढ़ पुलिस में गुमशुदगी दर्ज कराई थी.

Remo D'Souza को आया हार्ट अटैक, कोकिलाबेन अस्पताल में हुए भर्ती

उल्‍लेखनीय है कि लड़की आजमगढ़ जिले की रहने वाली है जबकि लड़का कुशीनगर का है. पुलिस का कहना है कि दोनों वयस्‍क हैं और एक ही समुदाय के हैं.