नयी दिल्ली, 25 मई (भाषा) दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया कि वह थानों में पुलिसकर्मियों को बैरक और आराम गृह/कक्ष की सुविधा उपलब्ध करा रही है ताकि वे अपने साथ कोरोना वायरस संक्रमण लेकर घर ना जाएं और परिवार के लोगों को संक्रमित ना करें।

उच्च न्यायालय ने कहा कि पुलिस बल को पता है कि दो गज की दूरी और कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन कैसे करना है और जब तक कि बैरकों में संक्रमण फैलने का कोई मेडिकल आंकड़ा सामने नहीं आता है, पुलिस बल को अपने कर्मियों को वैकल्पिक निवास स्थान मुहैया कराने के लिए कहने की जरुरत नहीं है।

प्राप्त सूचनाओं पर संज्ञान लेते हुए न्यायमूर्ति विपिन सांघी और न्यायमूर्ति जसमीत सिंह की पीठ ने कहा, ‘‘बैरकों और आराम गृह/कक्ष के रूप में हमेशा से पुलिसकर्मियों को उपलब्ध सुविधा उनकी जरुरतें पूरी करने के लिए पर्याप्त है। फिलहाम हम इस संबंध में कोई आदेश देने का विचार नहीं रखते।’’

भाषा अर्पणा नरेश

नरेश