अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज्म पर बहस छिड़ी हुई है. अब इस पर पूजा भट्ट ने खुलकर अपनी राय रखी है. एक के बाद एक ट्वीट में पूजा भट्ट ने लिखा कि इस समय के हॉट टॉपिक नेपोटिज्म के बारे में मुझे बोलने को कहा गया. इसे लेकर लोग गुस्से में हैं. मैं सिर्फ कल्पना कर सकती हूं और हंस संकती हूं, एक ऐसी इंसान के रूप में जो उस परिवार से संबंध रखती हैं, जो नए टैलेंट, एक्ट्रेस, म्यूजिशियन और टेक्निशियनों को लॉन्च करता है.

पूजा ने ये भी बताया कि एक वक्त ऐसा था जब भट्ट परिवार पर बड़े एक्टर्स के खिलाफ काम करने का आरोप लगाया जाता था और नए एक्टर्स के साथ काम करने और बड़े एक्टर्स के पीछे ना भागने के लिए छोटा महसूस करवाया जाता था. आज वही लोग नेपोटिज्म का कार्ड खेल रहे हैं.

पूजा ने इस मुद्दे पर खुलकर बयानबाजी कर रहीं कंगना को भी याद दिलाया कि किस तरह भट्ट परिवार ने 2006 में उन्हें अपने प्रोडक्शन में बनी फिल्म 'गैंगस्टर' से लॉन्च किया था. हां उन्हें अनुराग बासु ने खोजा, लेकिन विशेष फिल्म ने उनकी प्रतिभा पहचानी और फिल्म बनाई. ये कोई छोटा काम नहीं था. उन सभी के प्रयासों के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं.

पूजा ने एक ट्वीट और किया कि नेपोटिज्म से शब्द से किसी और को जलील करने की कोशिश करो दोस्तों. बहुत से लोगों ने अपनी मंजिल हमारे द्वारा बनाई गई फिल्मों के जरिए पाई. अगर वे भूल गए हैं तो ये उनकी प्रोब्लम है. हमारी नहीं.