देशभर में आज ईद-उल-जुहा का त्यौहार मनाया जा रहा है. इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को बकरीद की मुबारकबाद दी. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि ईद-उल-जुहा प्रेम, निस्वार्थता और बलिदान का भावना के प्रति आभार व्यक्त करने और समाज में एकता और भाईचारे के लिए मिलकर काम करने का त्योहार है.

ये भी पढ़ें: Eid al-Adha 2021: यूपी में काजू-पिस्ता खाने वाले दो बकरे 4.5 लाख में बिके, जानें इनकी खासियत

 राष्ट्रपति ने कहा, "देशवासियों को ईद मुबारक! ईद-उज़-ज़ुहा प्रेम, त्‍याग, बलिदान की भावना के प्रति आदर व्‍यक्‍त करने और समावेशी समाज में एकता और भाईचारे के लिए मिलकर कार्य करने का त्‍योहार है. हम कोरोना से बचाव के उपाय अपनाते हुए समाज के हर वर्ग की खुशहाली के लिए काम करने का संकल्‍प लें."    

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, "ईद मुबारक! ईद-उल-अधा की हार्दिक शुभकामनाएं. यह दिन सामूहिक सहानुभूति, सद्भाव और अधिक से अधिक अच्छे की सेवा में समावेश की भावना को आगे बढ़ाए." 

पीएम मोदी और राष्ट्रपति कोविंद समेत अन्य नेताओं ने भी बकरीद की मुबारकबाद दी. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, "ईद अल-अधा के अवसर पर बधाई और शुभकामनाएं. यह दिन हमारे समाज में खुशियां और सद्भाव लाए. ईद मुबारक!" 

ये भी पढ़ें:इस्लाम धर्म का खास त्योहार ईद-उल-अजहा, क्यों कहते हैं इसे कुर्बानी का दिन?

बकरीद का पर्व मुस्लिम समाज के लिए विशेष महत्व रखता है. इसका संबंध कुर्बानी से है. कुर्बानी का असल अर्थ बलिदान है, जो दूसरों के लिए दिया गया हो.

ये भी पढ़ेंः बकरीद पर कोरोना प्रतिबंधों में ढील: सुप्रीम कोर्ट ने केरल सरकार को फटकारा

ये भी पढ़ेंः क्या है बकरीद मनाने के पीछे का इतिहास? जानें