गुवाहाटी, 28 अप्रैल (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में भूकंप आने के बाद नुकसान के बारे में जानने के लिए मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल को दो बार टेलीफोन किया और केंद्र से सभी जरूरी मदद का आश्वासन दिया।

एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रधानमंत्री ने सुबह सात बजकर 51 मिनट के बाद आये भूकंप के कई झटके के तत्काल बाद सोनोवाल से बातचीत की । सबसे बड़े झटके की तीव्रता 6.4 थी।

विज्ञप्ति के अनुसार मोदी ने दोपहर को फिर उनसे बातचीत की और भूकंप के बाद की स्थिति पर विस्तार से चर्चा की।

सोनोवाल ने प्रधानमंत्री को भूकंप के कारण हुई तबाही पर राज्य के विभिन्न हिस्सों से प्राप्त जानकारियों से अगवत कराया।

विज्ञप्ति के अनुसार केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और पूर्वोत्तर क्षेत्र से संबद्ध मंत्री जितेंद्र सिंह ने भी मुख्यमंत्री से बातचीत की और राज्य सरकार को सभी सहायता का आश्वासन दिया।

बयान के मुताबिक सोनोवाल ने प्रधानमंत्री एवं अन्य मंत्रियों को धन्यवाद दिया जिन्होंने इस प्राकृतिक आपदा की घड़ी में असम के लोगों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए उन्हें फोन किया।

बाद में कोविड-19 प्रबंधन की समीक्षा बैठक के मौके पर इससे इतर मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने भूकंप के बाद जिला प्रशासनों से बातचीत की है।

उन्होंने कहा कि कुछ भवनों को नुकसान पहुंचने और कुछ लोगों के घायल होने की खबर है लेकिन कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया और जिला प्रशासनों को विस्तृत समीक्षा की खातिर क्षेत्र सर्वेक्षण करने एवं अपनी रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है ताकि प्रभावित लोगों तक जरूरी सहायता पहुंचायी जा सके।