पिछले 123 दिनों से दिल्ली-उत्तर प्रदेश के गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur) पर तीन कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों ने सोमवार को होली का त्यौहार नाच-गाने के साथ मनाया. 

मौके पर मौजूद एक किसान ने कहा, "हम सरकार से मांग करते हैं कि वह हमारी मांग को स्वीकार कर लें और तीन कृषि कानूनों को वापस लेनाले लें, ताकि हम अपने घर जा सकें."

ये भी पढ़ें- होली: 29 मार्च को दिल्ली मेट्रो कब से कबतक चलेगी

ये भी पढ़ें: राष्ट्रपति कोविंद, PM मोदी और CM योगी ने दीं होली की शुभकामनाएं

इससे पहले रविवार को किसानों ने दिल्ली की सीमाओं पर होलिका दहन’ के दौरान केन्द्र के तीन नये कृषि कानूनों की प्रतियां जलाई. संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि प्रदर्शनकारी किसानों ने सीमाओं पर होली मनाई और यह सुनिश्चित किया कि उनका आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक कि कृषि कानूनों को रद्द नहीं किया जाता.

ये भी पढ़ें: बेंगलुरु में कोरोना की रफ्तार तेज, 10 साल से कम उम्र के 470 से ज्यादा बच्चे संक्रमित

ये भी पढ़ेंः उद्धव ठाकरे ने कहा- 'नियमों का उल्लंघन कर रहे तो लॉकडाउन के लिए तैयार रहें'

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र और दिल्ली में एक दिन में दर्ज किए गए कोरोना के रिकॉर्ड मामले