भारत की सैन्य ताकत और बढ़ने वाली है, वो भी तब जब सीमा पर एक ओर पाकिस्तान तथा दूसरी ओर चीन के साथ विवाद चल ही रहा है. दरअसल, राफेल विमानों के पहले बैच ने फ्रांस से भारत आने के लिए उड़ान भर ली है. राफेल बुधवार यानी 29 जुलाई को अम्बाला स्थित एयर फोर्स स्टेशन पर लैंड करेंगे.

रिपोर्ट्स के मुताबिक- राफेल 10 घंटे की दूरी तरह करने के बाद संयुक्त अरब अमीरात में फ्रांस के एयरबेस पर लैंड करेंग.इसके अगले दिन राफेल अम्बाला के लिए उड़ान भरेंगे.

पेरिस में स्थित भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया, 'यात्रा मंगलमय हो: फ्रांस में भारतीय राजदूत ने राफेल के भारतीय पायलटों से बातचीत कर उन्हें बधाई दी. साथ ही उन्हें सुरक्षित भारत पहुंचने के लिये शुभकामनाएं भी दीं.'

 वायुसेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि इन्हें बल में शामिल करने को लेकर औपचारिक समारोह का आयोजन अगस्त के मध्य में किया जाएगा.

भारतीय वायुसेना ने कहा कि पायलटों और ग्राउंड क्रू ने इसे लेकर व्यापक प्रशिक्षण प्राप्त किया है. इसमें अत्यधिक उन्नत हथियार सिस्टम लगे हैं और पूरी तरह से चालू हैं. इन विमानों के भारत आने के बाद इन्हें जल्द से जल्द परिचालन में लाया जाएगा.

बता दें कि भारत ने सितंबर 2016 में फ्रांस के साथ लगभग 59,000 करोड़ रुपये की लागत से 36 राफेल लड़ाकू जेट की खरीद के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे.