कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि तमिलनाडु को भाषा एवं संस्कृति विरोधी ताकतों और ‘‘एक संस्कृति, एक राष्ट्र और एक इतिहास’’ की अवधारणा पेश करने वालों को दूर रखने में भारत को राह दिखानी चाहिए. राहुल गांधी ने राज्य के तीन दिवसीय दौरे में यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि इतिहास ने दिखा दिया है कि तमिलनाडु में तमिल लोगों के अलावा कोई और सत्ता में नहीं आ सकता. 234 विधानसभा सीटों वाले तमिलनाडु में छह अप्रैल को चुनाव होने हैं. कांग्रेस द्रमुक नीत गठबंधन के साथ चुनाव लड़ रही है.

गांधी ने यहां लोगों की भारी भीड़ को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘ये चुनाव भी यही चीज दिखाएंगे कि केवल वही व्यक्ति तमिलनाडु का मुख्यमंत्री बन सकता है, तो तमिल लोगों का प्रतिनिधित्व करता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगे झुकने वाले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री (के पलानीस्वामी) ऐसा कभी नहीं कर पाएंगे. मुख्यमंत्री को राज्य के लोगों के आगे झुकना चाहिए.’’

गांधी ने कहा कि आरएसएस और मोदी ‘‘तमिल भाषा और संस्कृति का अपमान’’ करते हैं तथा लोगों को उन्हें यहां अपने पैर जमाने नहीं देने चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘मोदी एक संस्कृति, एक राष्ट्र, एक इतिहास और एक नेता की बात करते हैं.’’ गांधी ने कहा, ‘‘क्या तमिल भारतीय भाषा नहीं है?

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी के कोविड-19 वैक्सीन लगवाने पर बोले AIIMS प्रमुख, देश की जनता के लिए कही ये बात

यह भी पढ़ें- केंद्र पर राकेश टिकैत ने उठाए सवाल, कहा- अगर कृषि कानून हमारे पक्ष में है तो चुप क्यों है सरकार?