कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत और चीन विवाद को लेकर एक वीडियो जारी किया है.उन्होंने सवाल उठाया है कि आखिर चीनियों ने यही वक्त क्यों चुना? भारत में अभी ऐसी क्या स्थिति है जो चीन को ये कदम उठाने की इजाजत मिल गई. ऐसा क्या हुआ चीन को ये विश्वास हो गया है कि वह भारत के खिलाफ ये हरकत कर सकता है.

उन्होंने वीडियो में कहा कि देश की रक्षा किसी एक बिन्दु पर टिकी नहीं होती, बल्कि यह कई शक्तियों का संगम होता है. देश की रक्षा विदेशी संबंधों, पड़ोसियों के साथ संबंधों, अर्थव्यवस्था और जनता की भावना पर टिकी होती है. पिछले छह वर्षों में भारत क्षतिग्रस्त और संकटग्रस्त हुआ है.

विदेशनीति पर बोलते हुए राहुल ने कहा कि पहले हमारे अमेरिका, रूस और यूरोप समेत लगभग हर देश से अच्छे रिश्ते थे, लेकिन अब सिर्फ व्यापार का रिश्ता रह गया है. रूस के साथ संबंध खराब हुए हैं. पहले नेपाल, भूटान, श्रीलंका हमारे अच्छे दोस्त थे. पाकिस्तान से अलग हर कोई हमसे जुड़ा था, लेकिन अब हमारे खिलाफ बातें करता दिख रहा है.

अर्थव्यवस्था पर राहुल गांधी ने कहा कि पहले अर्थव्यवस्था हमारी ताकत होती थी, लेकिन आज बेरोजगारी चरम पर है.छोटे कारोबारियों के हालात खराब है. सरकार हमारी बात नहीं सुन रही. अगर अर्थव्यवस्था में पैसा नहीं डाला गया तो सबकुछ बर्बाद हो जाएगा. वही हो रहा है.