कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के पार्थिव शरीर को यहां बुधवार को श्रद्धांजलि दी और कहा कि गोगोई उनके गुरु थे. गांधी ने कहा कि गोगोई का निधन उनके लिए निजी क्षति है.

गोवा से विशेष विमान से गुवाहाटी आने के बाद गांधी सीधा श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र पहुंचे जहां गोगोई के पार्थिव शरीर को जनता के अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है. उन्होंने गोगोई को पुष्पांजलि अर्पित की. इस दौरान दिवंगत कांग्रेस नेता के पुत्र गौरव मौजूद थे. गांधी ने संवाददाताओं से कहा, “मुझे लगता है गोगोई जी केवल असम के नेता नहीं थे. वह बेहतरीन मुख्यमंत्री और राष्ट्र्रीय स्तर के नेता थे. उन्होंने असम के लोगों को एक करने और राज्य में शांति स्थापित करने का काम किया था.”

उन्होंने कहा, “मैंने गोगोई जी के साथ कई घंटे बिताए हैं. वह मेरे शिक्षक, मेरे गुरु थे. उन्होंने मुझे समझाया कि असम और यहां के लोगों का महत्व क्या है. उन्होंने असम की सुंदरता से मेरा परिचय कराया. उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है.” गोगोई का सोमवार को निधन हो गया था.