कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर बुधवार को तीखा प्रहार किया है. उन्होंने कहा है कि, ये लोग हिंदू नहीं हैं, ये सिर्फ हिंदू धर्म का इस्तेमाल करते हैं. उन्होंने कांग्रेस की महिला इकाई ‘अखिल भारतीय महिला कांग्रेस’ के स्थापना दिवस समारोह में दावा किया कि आरएसएस और बीजेपी के लोग ‘महिला शक्ति’ को दबा रहे हैं और भय का माहौल पैदा कर रहे हैं.

राहुल गांधी ने नोटबंदी और जीएसटी का जिक्र करते हुए कहा कि वो (बीजेपी) अपने आप को हिन्दू पार्टी कहते हैं और पूरे देश में लक्ष्मी और दुर्गा पर आक्रमण करते हैं. जहां ये जाते हैं, कहीं लक्ष्मी को मारते हैं, कहीं दुर्गा को मारते हैं. ​ये हिन्दू धर्म का प्रयोग करते हैं, ये धर्म की दलाली करते हैं. मगर ये हिन्दू नहीं हैं.

यह भी पढ़ेंः सोनू सूद के घर पहुंचा Income Tax डिपार्टमेंट, छह जगहों पर किया गया सर्वे

राहुल ने कहा, जब आप महात्मा गांधी की तस्वीर देखेंगे, तो आपको उनके आसपास 2-3 महिलाएं दिखाई देंगी. क्या आपने किसी महिला के साथ मोहन भागवत की तस्वीर देखी है? ऐसा इसलिए है क्योंकि उनका संगठन महिलाओं को दबाता है और हमारा संगठन उन्हें एक मंच देता है। मोदी-आरएसएस ने किसी महिला को देश का पीएम नहीं बनाया, लेकिन कांग्रेस ने बनाया.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दीवाली से पहले पटाखों पर पूरी तरह से बैन लगाया

उन्होंने कहा कि वह आरएसएस और बीजेपी की विचारधारा के साथ कभी समझौता नहीं कर सकते. राहुल गांधी ने जोर देकर कहा, ‘‘देश में आरएससस और बीजेपी की सरकार है. इनकी विचारधारा और हमारी विचारधारा अलग अलग हैं. कांग्रेस की विचारधारा गांधी की विचारधारा है.

यह भी पढ़ेंः ऑटो और ड्रोन सेक्टर को राहत देने की कोशिश सरकार ने दिया बड़ा पैकेज